Breaking News
August 26, 2019 - पी.चिदंबरम को मिल झटका, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया अंतरिम जमानत याचिका
August 26, 2019 - तेजस्वी यादव को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने को लेकर राजद में विवाद
August 25, 2019 - प्रियंका गांधी ने कश्मीर को लेकर केन्द्र पर बोला हमला, कहा ‘लोगों को चुप कराना राष्ट्रविरोधी’
August 25, 2019 - तेजस्वी यादव बोले सिर्फ लालू परिवार ही भ्रष्टाचारी नहीं, आरसीपी सिंह पर जांच की रखी मांग
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - BPSSC में 2446 पदों के लिये एजुकेशन क्वालीफिकेशन में बदलाव
August 25, 2019 - अनंत सिंह ने जेल का खाना खाने से किया इंकार, मांगी विशेष सुविधा
August 25, 2019 - कोर्ट में पेशी के बाद पटना के बेऊर जेल भेजे गए अनंत सिंह
August 25, 2019 - तेजस्वी के कमबैक को झटका, शिवानंद तिवारी-भाई वीरेंद्र ने बनाई दूरी
August 25, 2019 - अरुण जेटली को लेकर लालू यादव ने बताई दिल की बात

श्याम रजक के बयान पर बीजेपी नेता ने उन्हें बताया बेवकूफ

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

जम्मू कश्मीर से धारा 370 का विरोध करने वाली जेडीयू का कहना है कि बीजेपी और कांग्रेस बेवजह इस पर धर्म की राजनीति कर रही है क्यों कि कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि बीजेपी ने मुस्लिम बहुल होने की वजह से जम्मू कश्मीर में यह फैसला लिया है. जेडीयू श्याम रजक ने बीजेपी और कांग्रेस दोनो पर इस पर राजनीति करने को लेकर निशाना साधा है. इस पर बीजेपी नेता निखिल आनंद ने पलटवार करते हुए कहा कि श्याम रजक के बयान पर कहा है कि वह बेवकूफ हैं. उन्होंने कहा कि कोई बेवकुफ नेता ही बीजेपी और कांग्रेस की तुलना कर सकता है. बीजेपी और कांग्रेस का कोई तालमेल ही नहीं है.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि श्याम रजक स्थानीय विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर बयान दे रहे हैं. जबकि बीजेपी ने धारा 370 को हटाकर एक एतिहासिक काम किया है. दरअसल, जेडीयू के नेता श्याम रजक जो धारा 370 को खत्म करने वाले कानून का जमकर विरोध किया था. उनका कहना है कि वह आज भी इसका विरोध करते हैं. श्याम रजक ने धारा 370 को हटाने के पर कहा था कि यह देश के लिए काला दिन है. वह इसका विरोध करते हैं और इसका कभी समर्थन नहीं करेंगे.

श्याम रजक ने कहा कि वह अपने बयान पर आज भी कायम हैं. वह आज भी इसका विरोध करते हैं और आगे भी विरोध दर्ज करते रहेंगे. लेकिन देश में जब कानून बन गया है तो अब इस पर किसी तरह की टिप्पणी का कोई मतलब नहीं है. कानून का विरोध किया जाता है जो मैंने किया और सर्मथन से कानून बनता है जो समर्थन के बाद कानून बन चुका है. इसलिए कानून का सम्मान करना चाहिए.

आपको बता दें कि उन्होंने कहा कि कानून बनने के बाद इसका सम्मान करने के बजाए बीजेपी और कांग्रेस इस पर राजनीति कर रहे हैं. दोनों ही देश हिंदू-मुस्लिम की राजनीति कर देश का सत्यानाश कर रहे हैं. यह देश के विकास के मुद्दे पर राजनीति करने के बजाए वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं. इन्हें यह नहीं समझ में आ रहा है कि जब दिल टूटता है तो देश टूटता है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *