Breaking News
March 19, 2019 - लगता हैं कांग्रेस सिन में नही, अब लेफ्ट से चल रही बात
March 19, 2019 - जदयू के इस सांसद ने किया नामांकन
March 19, 2019 - गया से टिकट कटने के बाद BJP सांसद ने लगाया बड़ा आरोप
March 19, 2019 - अब गिरिराज सिंह को मिला नीतीश सरकार के मंत्री का साथ, दिया यह बड़ा बयान
March 19, 2019 - आंध्रप्रदेश के सिएम ने PK को बताया बिहारी डकैत, प्रशांत किशोर ने भी दिया मुहतोड़ जवाब
March 19, 2019 - 4 बजे तक का अल्टीमेटम, कांग्रेस नेताओं ने उठाया यह कदम
March 19, 2019 - 5 सालों में सबसे ज्यादा बढ़ी शत्रुघ्न सिन्हा की संपत्ति, जान रह जायेंगे हैरान
March 19, 2019 - कांग्रेस के नाक नुकुर से तेजस्वी गुस्से में
March 19, 2019 - कैंसर उत्तरजीवी ओं के प्रति सामाजिक तथा मानवीय उत्तरदायित्व का निर्वहन
March 18, 2019 - गिरिराज सिंह को जवाब देने के लिए बीजेपी ने लगाया भूमिहार नेताओं को, अब सीपी ठाकुर के बेटे ने दी नसीहत

ABVP के मणिकांत बोले- ‘प्रशांत किशोर को चैलेंज देकर जीता है चुनाव’

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव अध्यक्ष पद पर छात्र जदयू की जीत के बाद एबीवीपी और विरोधी उम्मीदवारों ने इस चुनाव में धांधली का आरोप लगाया है. बता दें अध्यक्ष पद पर छात्र जदयू तो वहीं उपाध्यक्ष पद पर एबीवीपी की अंजना सिंह ने चुनाव जीता है.

महासचिव के पद पर एबीवीपी से चुनाव जीतने के बाद मणिकांत मणि ने प्रशांत किशोर पर जुबानी हमला बोला है. उन्होंने कहा है कि हमने यह चुनाव पीके को चैलेंज देकर जीता है. अध्यक्ष पद हाथ से जाने के बाद उन्होंने कहा कि यह चुनाव पैसे के दम पर हुआ है. उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर पांच सीट चाहते थे लेकिन हमने संघर्ष से यह चुनाव जीता.

वहीं, अन्य विरोधी दल ने भी चुनाव में धांधली का आरोप लगाया. विरोधी दलों का कहना है कि प्रशांत किशोर बैग में क्या लेकर आए थे. उन्होंने कहा कि वीसी से मिलकर बैलेट पेपर बदला गया है. जबकि आचार संहिता लागू होने के बाद भी वह यूनिवर्सिटी कैंपस में क्या कर रहे थे.

विदित हो कि सोमवार की देर शाम पीयू वीसी रास बिहारी सिंह से मिलने के बाद सवालों के घेरे में आए जदयू राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर छात्रों के निशाने पर रहे. जानकारी के मुताबिक एबीवीपी के छात्रों ने पथराव भी किया था. जिसके बाद छात्रों की गिरफ्तारी भी हुई. इसके बाद बीजेपी एमएलसी धरने पर बैठे छात्रों के रिहाई के बाद धरने से उठे. तब से विवाद गहराता गया.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles