Breaking News
December 16, 2018 - मुख्यमंत्री ने जीविका के सहयोग से महिला कृषकों द्वारा किये जा रहे काॅन्ट्रैक्ट फार्मिंग का निरीक्षण किया, पंचायत सरकार भवन में लोक सेवा अधिकार केन्द्र का किया उद्घाटन।
December 16, 2018 - जदयू ने सरदार बल्लभ भाई पटेल की मनाई पुण्यतिथि,लोगों ने उनके मार्गदर्शन पर चलने का लिया संकल्प
December 15, 2018 - युवा अपनी शक्ति का सदुपयोग कर परिवार, समाज, राज्य देश को आगे बढ़ायें:- मुख्यमंत्री
December 14, 2018 - मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई बिहार विकास मिशन के शासी निकाय की पांचवी बैठक संपन्न।
December 13, 2018 - मंजू वर्मा का छलका दर्द बोलीं- मुझसे क्या खता हुई
December 13, 2018 - सीट शेयरिंग पर राहुल गांधी का इंतजार कर रहे हैं बिहार के नेता
December 13, 2018 - राजनीति में आने पर खेसारी लाल ने दिया यह बड़ा बयान
December 13, 2018 - मुजफ्फरपुर बालिका गृह भवन को आज किया जा रहा ध्वस्त
December 13, 2018 - ‘खुद कंफ्यूज हैं उपेंद्र कुशवाहा’
December 13, 2018 - एक सीट पर नहीं मानेंगे मांझी, सीट शेयरिंग पर दिया बड़ा बयान

वोटरों की पूरी जानकारी सुरक्षित, 31 अक्टूबर तक जोड़े जाएंगे मतदाता सूची में नाम

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनज़र राज्य निर्वाचन विभाग ने कवायद शुरू करते हुए बुधवार को सभी जिलों के डीएम, निर्वाचन पदाधिकारी समेत अन्य अधिकारियों को ट्रेनिंग देने का सिलसिला शुरू कर दिया है. इसके लिए कल विभाग ने कार्यशाला का आयोजन किया था. जानकारी देते हुए राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवास ने कहा कि सभी वोटरों की पूरी जानकारी हर तरह से सुरक्षित है. इसमें किसी तरह की सेंधमारी की कोई गुंजाइश नहीं है. चुनाव में मसल और मनी पावर के प्रयोग को रोकने के लिए ठोस कार्रवाई की जायेगी.

फिर उन्होंने बताया कि पूरे देश में 87 करोड़ मतदाता हैं. राज्य में वोटरों की संख्या एक लाख कम हो गई है. 15 मई से 20 जून के बीच चले विशेष अभियान के दौरान 3,00,718 वोटरों के नाम काटे गए, जबकि 2,03,100 नए मतदाताओं के नाम जुड़े. आगे उन्होंने कहा, मतदाता सूची को पुनः निरीक्षण एक सितंबर से शुरू हुआ है, जो 31 अक्टूबर तक चलेगा. 30 नवंबर तक दावा-आपत्ति का निष्पादन होगा, जबकि चार जनवरी, 2019 को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा.

उन्होंंने कहा कि एक जनवरी, 2019 को 18 साल की आयु पूरा करने वाले सभी लोगों का नाम वोटर लिस्ट में शामिल किया जाएगा. सभी नए वोटरों को रंगीन एपिक दिया जाएगा. वोटर लिस्ट में नाम है या नहीं इसकी जांच की व्यवस्था आयोग ने की है. बीएलओ के पास मतदाता सूची से जानकारी ली जा सकती है. इसके अलावा टॉल फ्री नंबर 1950 पर फोन कर जानकारी ली जा सकती है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author

Related Articles