Breaking News
July 17, 2019 - अब मुखिया जी हुए पावरफुल, वाटर मैनेजमेंट के लिए मिले कई अधिकार
July 17, 2019 - इन 18 एजेंडों पर बिहार कैबिनेट में लगी मुहर
July 17, 2019 - बीजेपी खुलकर कर रहा आरएसएस का गुणगान, निखिल आनंद ने दिया ये बयान
July 17, 2019 - अब देश भर में बांधों की सुरक्षा के लिए बनेगा नया कानून
July 17, 2019 - सुशील मोदी का पलटवार, तब लालटेन पार्टी ने नाव से बाढ़ सर्वे का सुझाव क्यों नहीं दिया था
July 17, 2019 - राबड़ी देवी बोली, गठबंधन के दोनों दलों में विश्वास की कमी शुरू से ही रही
July 17, 2019 - सच्चिदानंद राय बोले, नीतीश की नीयत में शुरु से ही है खोट
July 17, 2019 - राबड़ी देवी ने नीतीश कुमार पर सही जानकारी नहीं देने का लगाया आरोप
July 17, 2019 - RSS समेत 19 हिंदू संगठनों की जानकारी जुटा रही नीतीश सरकार, बीजेपी गंभीर
July 17, 2019 - बाढ़ से पीड़ित परिवारों को छः हजार रूपये की मदद देगी नीतीश सरकार

वोटरों की पूरी जानकारी सुरक्षित, 31 अक्टूबर तक जोड़े जाएंगे मतदाता सूची में नाम

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी के मद्देनज़र राज्य निर्वाचन विभाग ने कवायद शुरू करते हुए बुधवार को सभी जिलों के डीएम, निर्वाचन पदाधिकारी समेत अन्य अधिकारियों को ट्रेनिंग देने का सिलसिला शुरू कर दिया है. इसके लिए कल विभाग ने कार्यशाला का आयोजन किया था. जानकारी देते हुए राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचआर श्रीनिवास ने कहा कि सभी वोटरों की पूरी जानकारी हर तरह से सुरक्षित है. इसमें किसी तरह की सेंधमारी की कोई गुंजाइश नहीं है. चुनाव में मसल और मनी पावर के प्रयोग को रोकने के लिए ठोस कार्रवाई की जायेगी.

फिर उन्होंने बताया कि पूरे देश में 87 करोड़ मतदाता हैं. राज्य में वोटरों की संख्या एक लाख कम हो गई है. 15 मई से 20 जून के बीच चले विशेष अभियान के दौरान 3,00,718 वोटरों के नाम काटे गए, जबकि 2,03,100 नए मतदाताओं के नाम जुड़े. आगे उन्होंने कहा, मतदाता सूची को पुनः निरीक्षण एक सितंबर से शुरू हुआ है, जो 31 अक्टूबर तक चलेगा. 30 नवंबर तक दावा-आपत्ति का निष्पादन होगा, जबकि चार जनवरी, 2019 को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा.

उन्होंंने कहा कि एक जनवरी, 2019 को 18 साल की आयु पूरा करने वाले सभी लोगों का नाम वोटर लिस्ट में शामिल किया जाएगा. सभी नए वोटरों को रंगीन एपिक दिया जाएगा. वोटर लिस्ट में नाम है या नहीं इसकी जांच की व्यवस्था आयोग ने की है. बीएलओ के पास मतदाता सूची से जानकारी ली जा सकती है. इसके अलावा टॉल फ्री नंबर 1950 पर फोन कर जानकारी ली जा सकती है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author

Related Articles