Input your search keywords and press Enter.

तमाम विपक्षी संगठनों ने भारत बंद में दिया अपना समर्थन,आम लोंगों को डाला परेशानी में….

डीबीएन न्यूज।मधुबनी(पुष्परंजन बजाज)-एससी एसटी अत्याचार अधिनियम को कमजोर करने के विरोध में एससी- एसटी के तमाम संगठनो द्वारा जिले के विभिन्न प्रखंडों में व्यापक विरोध प्रदर्शन कर भारत बंद आंदोलन को सफल बनाया. जिले के औंसी जीरो माइल चौक पर बड़ी संख्या में मौजूद लोगो ने जमकर केन्द्र सरकार के विरुद्ध नारेबाजी की. आंदोलन का नेतृत्व संभाले सीपीआई के वरिष्ट नेता कॉमरेड महेश साह ने कहा कि जब जब देश में भाजपा की हुकूमत आई हैं तब तब हर एक फैसला वंचित शोषित समाज के विरोध में होता रहा हैं. आज भी वही कहावत चरितार्थ होते दिख रही हैं.माल महराज का मिर्ज़ा खेले होली. उन्होंने कहा कि बहुजनो का वोट बटोर भाजपा हुकूमत में आई और बहुजनो का शोषण कर रही हैं.

हर ओर दलितों को उनके अधिकार से वंचित करने का प्रयास किया जा रहा हैं.कहीं मंदिरों में प्रवेश पर रोक तो कहीं मंदिरों में जाते ही मंदिरों को धुलवाकर शुद्धीकरण कराय जाता है. ये ढोंग नही तो क्या हैं. वही संगठन कार्यकर्ताओं के आग्रह पर पहुँचे समाजसेवी बिहार होमगार्ड्स एशोसियेशन के सचिव विष्णुदेव सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार की वजह से एससी-एसटी एक्ट कमजोर हुआ और देश में ऐसे हालत बने हैं.

Loading...

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के कार्यकाल में दलितों और अल्पसंख्यकों के खिलाफ अत्याचारों में बड़े पैमाने पर बढ़ोत्तरी हुई है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार एससी-एसटी एक्ट को कमजोर होने से रोकने के लिए ठीक से पैरवी नहीं की.आजाद ने कहा कि इसका साफ मतलब यह है कि केंद्र सरकार को दलितों और पिछड़े वर्ग में कोई दिलचस्पी नहीं है. एससी-एसटी अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के साथ छेड़छाड़ किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि इस कानून को संविधान की 9 वीं अनुसूची में डाला जाए ताकि इसमें कभी भी हस्तेक्षेप नहीं किया जा सके.उन्होंने कहा कि यदि ऐसा नहीं होता है तो संगठन द्वारा आंदोलन जारी रहेगा और आगामी दिनों पूरे देश भर में चरणबद्ध तरीके से आंदोलन होगा.

उन्होंने कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार देश के संविधान के अधिकार का हनन कर रही है. संविधान समीक्षा के नाम पर दलितों के अधिकारों समाप्त करने की साजिश रच रही है.सरकार की मंशा का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि न्यायालय के फैसले पर सरकार ने अपना पक्ष नहीं रखा. बंद कार्यक्रम में जिले के शिक्षाविद देवनारायण चौधरी उर्फ देवन,रंजीत कुमार,राजद नेता मो असलम, जिप सदस्य शीला देवी, ललित पासवान,रामप्रीत पासवान ,मो नवेद ,शत्रुधन साह,सुरेश पासवान, अशेष झा ,विशेश्वर कर्ण समेत अधिकाँश जनप्रतिनिधि व सामाजिक संगठन ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.