Input your search keywords and press Enter.

बांग्लादेश में हुए आतंकी हमले का बिहार से जुड़ा तार

generic-terrorist

generic-terrorist


बांग्लादेश की राजधानी ढाका में इस साल जुलाई में हुए आतंकी हमले की जांच कर रही एजेंसी का दावा है कि इसमें इस्तेमाल किये गये हथियार (एके 47) बिहार से आये थे. इन हथियारों को आम की टोकरी में छूपा कर बांग्लादेश पहुंचाया गया था. बांग्लादेश अखबार ढाका ट्रिब्यून ने बांग्लादेश के काउंटर टेररिज्म एंड ट्रांसनेशनल क्राइम प्रमुख मोनिरूल इस्लाम के हवाले से यह खबर प्रकाशित की है. मोनिरूल ने अखबार से कहा, ‘हमें पता चला है कि भारत के बिहार राज्य के मुंगेर में इन हथियारों का मॉडिफिकेशन किया गया था और उन्हें वहां से चपैनवाबगंज लाया गया. बरामद तीन एके-22 रायफलों पर बिहार की फैक्टरी की मुहर लगी हुई थी. ढाका हमले में एक भारतीय छात्रा समेत 20 लोग मारे गए थे.

रिपोर्ट के अनुसार ढाका के गुलशन इलाके के होली आर्टिसन बेकरी पर हुए हमले के करीब एक महीने पहले एके-22 राइफलें और अन्य हथियार आतंकियों के पास ढाका पहुंचे थे, इनमें से तीन एके-22 राइफलों का इस्तेमाल ढाका हमले में किया गया, जबकि बाकी का इस्तेमाल नये जमातुल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के प्रमुख तमीम अहमद चौधरी की सुरक्षा में किया गया. हमले के करीब एक माह बाद चौधरी सुरक्षा बलों के साथ हुई मुठभेड में मारा गया था.
Loading...

जांच रिपोर्ट के अुनसार जेएमबी के सदस्य नुरूल इस्लाम मरजान ने ढाका में तस्करी से आये हथियारों का हासिल किया और उन्हें बसुंधरा रेजिडेंशियल एरिया स्थित आतंकी ठिकाने तक पहुँचाया. ढाका हमले की जिम्मेदारी आतकंवादी संगठन इलामिक स्टेट (आइएस) ने ली थी लेकिन बांग्लादेश पुलिस के अनुसार यह हमला आइएस के करीबी जेएमबी ने किया था. जांच एजेंसी के प्रमुख ने कहा कि हमने इस गुट की प्राथमिक पहचान भी कर ली है. गिरफ्तारी का अभियान चलाया जा रहा है.

[related_posts_by_tax title=”रिलेटेड न्यूज़:” posts_per_page=”3″]
इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.
[addtoany]

Leave a Reply

Your email address will not be published.