Input your search keywords and press Enter.

सेना के जवान ने किया डीएम से दुर्व्यवहार,जिला अधिकारी के सुरक्षा गार्ड के साथ झड़प मे गिरफ्तार…

डीबीएन न्यूज/औरंगाबाद(धीरज)- ओबरा थाना क्षेत्र के तेजपुरा लक के पास आज रविवार के दिन ज़िला अधिकारी राहुल रंजन महीवाल के सुरक्षा गार्ड के साथ मारपीट का मामला प्रकाश में आया है.

जानकारी के अनुसार,जिलाधिकारी दाउदनगर थाना क्षेत्र के एकौनी गांव से कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय की जांच कर दाउद नगर बारुण रोड से औरंगाबाद लौट रहे थे. उसी दौरान बालू लदे दो ट्रैक्टर को रुकवा कर जांच करने लगे. जांच के दौरान जिलाधिकारी ने ट्रैक्टर चालक से बालू का चालान एवं ट्रैक्टर से संबंधित जरूरी कागजातों की मांग की.


Widget not in any sidebars

उसी दौरान ओबरा प्रखंड के मझियावां गांव निवासी राजनारायण सिंह वहां पहुंचकर जिलाधिकारी के साथ दुर्व्यवहार करने लगे. कटु शब्दों का प्रयोग करते हुए उनके सुरक्षा गार्डों के साथ वह उलझ गया. जिला पदाधिकारी से दुर्व्यवहार करते हुए देखकर सुरक्षा गार्डों ने उक्त व्यक्ति से उलझ गए जिसमें तू-तू-मैं-मैं के साथ झडप भी हो गई. जिसमें तीन सुरक्षा गार्ड घायल हो गए.घायल होने वाले सुरेश प्रसाद राठौर, दिलीप कुमार और राम अवध प्रसाद गंभीर रुप से जख्मी बताये जाते हैं. सभी का इलाज दाउदनगर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में किया गया.

Loading...

उसके बाद डीएम के आदेश पर ओबरा थाना में सरकारी काम में बाधा डालने और अवैध खनन के विरोध में तथा प्रशासन के साथ मारपीट के संबघ मे मामला दर्ज किया गया है.

वहीं पुलिस द्वारा त्वरित करवाई करते हुए आरोपित को घटनास्थल तेजपुरा लख के पास से गिरफ्तार कर लिया गया. उसके साथ एक ट्रेक्टर और एक बाइक जब्त किया गया है.बताया जाता है कि जिन दो ट्रैक्टरों को रुकवाकर डी एम के द्वारा जांच की जा रही थी. उसमें से एक ट्रैक्टर पर लदे बालु एवं उसका चालान सही पाया गया.

मालिक द्वारा जरूरी कागजात को दिखाने के बाद उस ट्रैक्टर को छोड़ दिया गया. वही आपको बताते चलें कि आरोपित सेना के जवान है और वह हवलदार के पद पर कार्यरत है. आखिर क्यों हुई झड़प क्योंकि नियमों के पालन करने वाले में सबसे ज्यादा सेना का जवान को माना जाता है.लेकिन क्या सेना के जवान नियमों को ताक पर रखकर एक जिला पदाधिकारी को अपने काम करने में बाधा पहुंचाने का अधिकार उन्हें किसने दिया.खैर जो भी हो आरोपी को कानून की याद दिलाते हुए सलाखों के पीछे भेजा जा रहा है.

वही प्राप्त जानकारी के अनुसार जवान छुट्टी में अपने घर आया था. वही आरोपित जवान को भी चोट आई है और सभी के साथ उसका भी इलाज कराया गया.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.