Input your search keywords and press Enter.

प्रथम बोनस वितरण समारोह का अरवल डीएम ने किया शुभारम्भ, मौके पर डीएम ने कहा …..

संबोधित करते फोटो

डीबीएन न्यूज/अरवल(के कुमार “श्रवण”)- अरवल -प्रखंड क्षेत्र के राधे बीघा दूध उत्पादक सहयोग समिति के तत्वाधान में प्रथम बोनस वितरण समारोह का आयोजन किया गया.समारोह का उद्घाटन करते हुए अरवल जिला पदाधिकारी सतीश कुमार सिंह ने कहा कि दूध उत्पादक समिति की शुरुआत गुजरात राज्य से शुरू हुई थी जो बढ़कर बिहार में सुधा डेयरी के नाम से काम कर रहा है.जिला पदाधिकारी ने कहा कि पूरे देश में बिहार के दूध की पहचान एक बेस्ट क्वालिटी के दूध के रूप में होती है.पूरे देश में दूध उत्पादन करने में बिहार का तीसरा स्थान है.

डीएम ने लोगों से अपील किया कि लोग खेती पर पूर्ण रुप से निर्भर न होकर अपने घर में गौ पालन कर दूध सहयोग समिति से जुड़कर लाभ उठा सकते हैं. डीएम ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मेहनतकश किसानों एवं दूध उत्पादकों को बैंक से कर्ज जिला गव्य विभाग के द्वारा दिए जाने का प्रावधान है. वैसे बैंक जो किसानों को एवं दूध उत्पादकों को कर्ज देने में लापरवाही बरतते हैं.उनकी शिकायत तत्क्षण मेरे पास की जाए. मैं उन पर कड़ी कार्रवाई करूंगा.

डीएम ने कहा कि सरकार के द्वारा दूध उत्पादन को बढ़ाने के लिए अनुदानित दर पर चारा कल तथा मोटर चालक चारा कल एवं अन्य समान किसानों को सामान उपलब्ध कराये जाते हैं.डीएम ने लोगों से अपील किया कि दूध उत्पादन को तीव्र गति से बढ़ावा देने के लिए एक जन आंदोलन के रूप में लोगों को केवल जागरूक करने की आवश्यकता है.

अरवल के लोग काफी मेहनती हैं.केवल उन्हें दिशा देने की आवश्यकता है. दूध सहयोग समिति की चर्चा करते हुए अरवल जिला पदाधिकारी ने कहा कि दूध समिति बाजार और दूध उत्पादकों के बीच मध्यस्थता का काम करता है. दूध का बाजार असीमित है.इससे बनने वाले तमाम खाद्य सामग्रियों की कीमत भी बढ़ रही है.

Loading...

डीएम ने कहा कि प्रोटीन युक्त सामग्रियों का दाम निरंतरता के साथ बढ़ रहा है.लोगों को जानकारी देते हुए डीएम ने कहा कि अरवल जिला में बैंकों में पैसे की किसी भी तरह की कोई दिक्कत नहीं है.आप मेहनत के साथ दूध उत्पादन कर सहयोग समिति से जुड़े. डीएम ने दुख जताते हुए कहा कि राधे बीघा 70 घरों के गांव में केवल 17 घरों में से दूध उत्पादन होना चिंता का विषय है.डीएम ने लोगों से अपील किया कि सभी 70 घरों से दूध का उत्पादन बहुत ही जल्द शुरू हो जाएगा. जिले में राधे बीघा दूध उत्पादन समिति का नाम सर्वोपरि होगा.बोनस वितरण समारोह को संबोधित करते हुए जदयू जिलाध्यक्ष जितेंद्र पटेल ने कहा कि आज जिले में 240 दूध समितियां संचालित है.जो निरंतरता के साथ दूध का उत्पादन अपनी क्षमता के अनुसार कर रही है. जदयू नेता ने अपने गांव के लोगों से अपील किया कि सभी घर में गोपालन कर दूध की उत्पादन को बढ़ाएं. समारोह को संबोधित करते हुए मगध दूध उत्पादन सहयोग समिति के अध्यक्ष अवधेश कर्ण ने कहा कि आज जिले में दोस्त दूध के संग्रहण केंद्र खुले हुए हैं. जो शीघ्र ही दूध का संग्रहण करने लगेंगे. अरवल के क्षेत्र में पड़ने वाले दूध समितियों का संग्रहण अरवल में होगा. जिले के कुर्था प्रखंड मुख्यालय में बने दूध संग्रहण केंद्र में इस क्षेत्र में पड़ने वाले दूध उत्पादन समितियों का दूध संग्रहण होगा.

उन्होंने कहा कि बहुत जल्द ही दोनों संग्रहण केंद्र काम करना शुरु कर देगा.समारोह को कमलेश शर्मा जिला गव्य विकास विभाग के संजय कुमार ने भी संबोधित किया. समारोह के समाप्ति के बाद राधे बीघा दूध उत्पादक सहयोग समिति के द्वारा वित्तीय वर्ष 15-16- 17 में अच्छे दूध के उत्पादन करने वाले किसान को सम्मानित किया गया. जिसमें जनेश्वर सिंह को प्रथम मालती देवी को दूसरा अरविंद सिंह को तीसरा स्थान दिया गया. इसके अलावा 33 दूध उत्पादक किसानों को सम्मानित किया गया है.इस अवसर पर जिला परिषद सदस्य मंजू देवी,जदयू छात्र नेता रोशन पटेल, गोलू पटेल, बेलखरा के पूर्व सरपंच धनंजय कुमार समेत बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.