Input your search keywords and press Enter.

दावत-ए-इफ्तार समाज को जोड़ने में सहायक : विधायक

डीबीएन न्यूज/मोतिहारी {मधुरेश}– रमजान के महीने में चंपारण की धरती पर दावत-ए- इफ्तार का दौर जारी है. कल पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह की ओर से मोतिहारी में इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया तो आज केसरिया में प्रदेश जदयू के नेता पूर्व विधायक महेश्वर सिंह की ओर से तथा जिला मुख्यालय मोतिहारी से सटे सिंघिया हिवन में युवा गाँधीवादी जिला कांग्रेस कमिटि के सचिव व असंगठित कामगार काँग्रेस के नव-नियुक्त जिला कोऑर्डिनेटर प्रीतम अग्रवाल की ओर से रोजेदारों के लिए इफ्तार पार्टी आयोजित की गयी.

केसरिया में आयोजित इफ्तार पार्टी के मौके पर पूर्व विधायक महेश्वर सिंह ने कहा कि ऐसे आयोजन से समाजिक सौहार्द मजबूत होता है. ऐसा आयोजन समाज के लिए अनुकरणीय है. उधर कांग्रेस नेता प्रीतम अग्रवाल के सिंघिया हिवन स्थित आवास पर आयोजित दावत-ए-इफ्तार में कई राजनीतिक दलों के जनप्रतिनिधि व नेताओं सहित प्रबुद्ध समाजसेवी व शहर कई रोजेदारों ने शिरकत किया. इफ्तार करने के बाद रोजेदारों ने नमाज-ए-मगरीब अदा की. आयोजक प्रीतम अग्रवाल ने कहा कि- दावत-ए-इफ्तार का आयोजन करने का मुख्य उद्देश्य आपसी भाईचारा व समाजिक सौहार्द को बढ़ावा देना है.


Widget not in any sidebars

मौके पर आयोजन की प्रशंसा करते हुए बिहार प्रदेश काँग्रेस कमिटि (बिहार प्रदेश असंगठित कामगार काँग्रेस) के प्रदेश सचिव विनय उपाध्याय ने कहा कि “जो मोमिन रमजान के महीने में रोजेदार को इफ्तार कराता है, उसके गुनाहों की मगफिरत की जाती है. साथ ही रोजेदार के बराबर ही इफ्तार कराने वाले को सवाब मिलता है.”

Loading...

वहीं बिहार सरकार के पूर्व मंत्री सह गाँधी संग्रहालय के सचिव ब्रज किशोर सिंह ने इस अवसर पर गाँधी के विचारों का हवाला देते हुए दावत-ए-इफ्तार और होली-मिलन आदि समारोहों को सांप्रदायिक सौहार्द मजबूत बनाने का एक उत्तम मार्ग बताया.

वही काँग्रेस पूर्व प्रत्यासी अनवर आलम अंसारी ने कहा कि अल्लाह के रसूल सल्ले अलैह व सल्लम ने फरमाया है कि, जन्नत के दरवाजों में से एक दरवाजा का नाम रेयान है.उससे सिर्फ रोज़ेदार ही जन्नत में जाएंगे. इसलिए मुसलमानों को रोजा रखना चाहिए.ताकि वे जन्नत के हकदार बन सकें.

उपस्थित लोगों ने एक दूसरे को बधाई देते हुए आपसी भाईचारा को बनाए रखने की बात कही. दावत-ए-इफ्तार में शरीक होने वालों में मुख्य रुप से वृद्धजन संरक्षण समिति, बिहार सरकार के अध्यक्ष सह एमएलसी सतीश कुमार, सुगौली के पूर्व विधायक रामाश्रय सिंह, काँग्रेस जिलाध्यक्ष शैलेन्द्र कुमार शुक्ल, सेवानिवृत्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश, पश्चिम चम्पारण सह नॉर्थ बिहार विद्युत बोर्ड, उपभोक्ता शिकायत निवारण समिति के चेयरपर्सन बिपिन बिहारी मिश्रा, अखिल भारतीय काँग्रेस कमिटि के प्रतिनिधि सूजा गाँधी, अधिवक्ता सह राजद के वरीय नेता नवल पाण्डेय, भाजपा के प्रदेश नेता अरुण यादव, पूर्व जिला पार्षद जितेंद्र सिंह, काँग्रेस नगर अध्यक्ष ओसैदूर रहमान उर्फ रूमा खां, पूर्व जिला पार्षद मनीर खां, हरसिद्धि प्रखंड काँग्रेस अध्यक्ष नेयाज खां, उमर खां, एनएसयूआई के जिलाध्यक्ष बिट्टू यादव, रकीब मियाँ, पंकज कुमार, सौरभ सिंह, किसलय गौतम, आलोक कुमार, जितेंद्र उपाध्याय, अभिषेक सिंह एवं राजू कुमार आदि थे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.