Input your search keywords and press Enter.

शेखपुरा के अरियरी स्वास्थ्य केंद्र पर बवाल, पुलिस पब्लिक में भिड़ंत, डॉक्टर को पीटा दौड़ा-दौड़ाकर

डीबीएन न्यूज/शेखपुरा(ललन कुमार)

शेखपुरा के अरियरी थाना क्षेत्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अरियरी के मुख्य गेट पर बाइक दुर्घटना में घायल 60 वर्षीय वृद्ध को डॉक्टर के अस्पताल में मौजूद नहीं रहने पर इलाज के अभाव में हुई मौत पर जमकर बवाल मचा.मौके पर पहुंची अरियरी थाना की पुलिस आक्रोशितों को शांत करने में जुटी रही. लेकिन आक्रोशितों के सामने पुलिस की एक न चली. मौके पर थोड़े देर बाद ड्यूटी से गायब डॉक्टर विनेश कुमार पहुंचे. लेकिन अरियरी पुलिस आक्रोशितों से बचाने के लिए डॉ विनेश को पुलिस जीप में बैठाई रही. मामला शांत होने पर जैसे ही डॉक्टर को पुलिस अरियरी थाने पर पुलिस ले जाने लगी वैसे ही आक्रोशित ग्रामीण डॉक्टर पर टूट पड़े. उस डॉक्टर को आक्रोशित ग्रामीण दौड़ा दौड़ा कर घूसों से पिटाई करने लगे. पुलिस डॉक्टर को अभिरक्षा में लेकर बचाती रही.इस दौरान पुलिस को भी चोटें आई.

Loading...

वहीं आक्रोशितों ने शेखपुरा- अरियरी सड़क मार्ग के फरपर  गांव के पास बांस- बल्ली लगा कर जाम कर दिया.ग्रामीणों ने बताया कि सोमवार की सुबह एक बाइक दुर्घटना में 60 वर्षीय वृद्ध रामदेव चौहान निवासी फर पर गंभीर रूप से घायल हो गए.घायल होने के बाद इलाज के लिए फ़र पर गांव स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अरियरी में इलाज के लिए भर्ती कराया गया लेकिन डॉक्टर ड्यूटी से फरार थे जिसके वजह से मृतक के परिजन उन्हें सदर अस्पताल शेखपुरा ले जाने लगे. इस दौरान रास्ते में ही वृद्ध की मौत हो गई मौत के बाद आक्रोशित ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्र अरियरी के मुख्य गेट पर ताला जड़ दिया उसके बाद जमकर बवाल मचा.

वही अरियरी पुलिस ने बताया की घटना सुबह में बाइक से घटी है.फरपर गांव निवासी रामदेव चौहान 60 वर्षीय वृद्ध पैदल कहीं जा रहे थे. इसी दौरान विपरीत दिशा से आ रही बाइक सवार ने उन्हें ठोकर मार दी जिसके वजह से वे गंभीर रूप से घायल हो गए.घायल अवस्था में उन्हें अरियरी स्वास्थ्य केंद्र लाया गया लेकिन स्वास्थ्य केंद्र पर डॉक्टर ड्यूटी से फरार थे. जिसके वजह से इलाज के अभाव में उनकी मौत हो गई.मौत के बाद आक्रोशित जमकर उत्पात मचाने लगे.वही मौके पर पहुंचे एसडीपीओ अमित शरण, एसडीओ राकेश कुमार,सीएस डॉ मृगेंद्र, अरियरी बीडीओ और सीओ समझा-बुझाकर आक्रोशितों को सड़क जाम से मुक्त कराया. किसी तरह स्थिति को नियंत्रण में लेकर माहौल को शांत कराया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.