Input your search keywords and press Enter.

20 जून से शुरू होगा बाबा मखदूम जहां की मजार पर चिरागा मेला, नालन्दा जिला प्रशासन ने की सुरक्षा के ये कड़े इंतजाम

डीबीएन न्यूज/नालन्दा(डीएसपी सिंह)-नालन्दा जिला मुख्यालय बिहार शरीफ स्थित हजरत मखदूम शेख शर्फ़उद्दीन अहमद यहींआ मनेरी रह मजार पर 20 जून को जिला प्रशासन द्वारा पहली चादरपोशी के साथ ही मेला शुरू हो जाएगा.

वैसे तो इस मेला की शुरुआत ईद के कल होकर ही शुरू हो जाती हैं .परंतु आधिकारिक तौर पर ईद के पांचवी तारीख से मेला का विधिवत शुरुआत होगा. नालंदा जिला प्रशासन द्वारा बाबा मखदूम साहिब की मजार पर पहली चादरपोशी की जाती है .इसके बाद ही अन्य सरकारी विभागों तथा आम लोगों एवं विभिन्न संगठनों द्वारा बाबा की मजार पर चादरपोशी की जाती है.


Widget not in any sidebars

इस मेले में देश- विदेश से लाखों लोग आते हैं .यहां नालंदा के अलावे अन्य राज्यों झारखंड, कोलकाता, उत्तर प्रदेश, केरल, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तथा नेपाल, तिब्बत आदि देश के जायरीन भी भाग लेते हैं .उर्दू के पांचवी तारीख से शुरु होकर यह मेला दसवीं तारीख तक चलता है .मेला के अंतिम दिन रात 12 बजे के बाद मखदूम- एक- जहां के साहबे सज्जादानशी(पीर साहिब) की ओर से चादरपोशी होती है. इस बीच मजार पर कुरान खबानी व इज्जतमाई दुआ का आयोजन किया जाता है .

श्री मखनी ने बताया कि उर्स का मतलब मुलाकात की रात होती है. अकीदत के अनुसार अकीदतमंद लोग उस रात अपने फिर से मुलाकात करने पहुंचते हैं. बाबा उर्दू की 5 वी तारीख की रात में ही शहर के खानकाह मुहल्ले में इंतेक़ाल कर गए थे .उसके बाद से ही उर्स का सिलसिला शुरु हुआ. जो अब तक चलता आ रहा है.

बाबा मखदूम -ए- जहां की मजार पर हर शुक्रवार को हिंदू- मुसलमान दोनों धर्मों के लोग मजार पर जाकर मन्नत मांगते हैं .कहा जाता है कि बाबा उनकी मुरादे पुरी करते हैं.हर साल की तरह इस साल भी चिरागा मेले में लाखों लोगों की पहुंचने की उम्मीद है. जिला प्रशासन ने मेले में सुरक्षा के लिए व्यापक प्रबंध किया है.

Loading...

नालंदा के जिला पदाधिकारी डॉक्टर त्यागराजन एस मोहनराम तथा पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार पोरिका द्वारा जारी किए गए संयुक्त आदेश में कई दिशा निर्देश दिए गए. मेला में बड़ी संख्या में महिलाएं एवं बच्चे आते हैं. उन्हें किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए मेला क्षेत्र में एक अस्थाई थाना बनाया गया है. जहां हर समय पुलिस के अधिकारी मौजूद रहेंगे .इसके अलावा अग्नि शामक दस्ता भी तैनात रहेंगे .मेला में आने वाले जायरीनों के लिए खाने-पीने ,ठहरने, शौचालय, सुरक्षा के लिए व्यापक प्रबंध किए गए हैं.

CCTV कैमरे से आने- जाने वालों पर नजर रखी जाएगी. मेला क्षेत्र में चप्पे-चप्पे पर मजिस्ट्रेट व पुलिस के जवानों को तैनात किया जाएगा. असामाजिक तत्वों पर नज़र रखने के लिए सिविल ड्रेस में भी पुलिस के जवान बड़ी संख्या में तैनात रहेंगे.मेला के दौरान किसी प्रकार की घटना या दुर्घटना के लिए जिला समाहरणालय परिसर में जिला नियंत्रण कक्ष बनाया गया है .इसमें हर समय अधिकारी व पुलिस के जवान मौजूद रहेंगे .किसी प्रकार की गड़बड़ी होने पर इसकी सूचना कंट्रोल फोन नंबर 06112 -23 54 88 पर दी जा सकती है.

तीन शिफ्ट में अधिकारी नियंत्रण कक्ष में तैनात रहेंगे तथा किसी प्रकार की सूचना आने पर रजिस्टर पर दर्ज किया जाएगा .मेले के दौरान जहां- तहां वाहन नहीं लगे. इसके लिए तीन रास्तों पर बैरियर लगाए गए हैं .बाबा मनीराम अखाड़ा, सोगरा कॉलेज तथा कटरा तीन मुहानी के पास बेरियर लगाए गए हैं.मेले में लगाए गए विभिन्न प्रकार के झूलो तथा खेल तमाशा वालो के साथ कोई असामाजिक तत्व बदमाशी न करें ,इसके लिए इनको पूरी सुरक्षा दी गई है .


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.