Input your search keywords and press Enter.

भागलपुर: सृजन घोटाले में फिर हुई एक और प्राथमिकी दर्ज, बिहपुर प्रखंड में ढाई करोड़ का हुआ घोटाला….

फाइल फोटो

डीबीएन न्यूज/भागलपुर(संजीव मिश्रा)- 1500 करोड़ रुपये का सृजन घोटाला की जांच खत्म होता नहीं दिख रहा है. न जाने सृजन का भूत कब खत्म होगा.सृजन मामले में आज एक फिर प्राथमिकी दर्ज हुई है.

बिहपुर प्रखंड के इंदिरा आवास योजना का ढाई करोड़ रुपये सृजन महिला विकास सहयोग समिति के जरिये घोटाला कर लिया गया है. डीएम के निर्देश पर बीडीओ ने तीन सदस्यीय कमेटी से इसकी जांच करवाई थी.

सूत्रों के हवाले से प्राप्त खबर के अनुसार, जांच के बाद आज बीडीओ सत्येन्द्र सिंह के बयान पर बैंक ऑफ बड़ौदा के तत्कालीन व वर्तमान मैनेजर और सृजन महिला के पदधारकों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है. बिहपुर प्रखंड इंदिरा आवास योजना के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा में 21 जुलाई, 2008 को खाता खोला गया था. इस खाते में नौ अलग-अलग चेक के जरिये करीब ढाई करोड़ रुपये जमा कराया गया था. खाता खुलने के साथ ही उसी दिन चेक के जरिये इंदिरा आवास योजना का 31 लाख, 92 हजार रुपये जमा करवाया गया था, जो बैंक की मिलीभगत से सृजन महिला के खाते में ट्रांसफर कर दिया गया.

Loading...

इसके बाद राशि जमा करने व निकासी का सिलसिला शुरू हो गया. 21 जुलाई 2008 से लेकर 11 फरवरी, 2009 के बीच कई बार ऐसा हुआ.सृजन घोटाले का खुलासा होने के बाद डीएम ने 10 अगस्त, 2017 को बैंक खाते की जांच कराने का निर्देश दिया था. डीएम के निर्देश पर बीडीओ ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया.टीम में प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी प्रवीण कुमार भारती, लिपिक सुमन कुमार और गोपाल ठाकुर को शामिल किया गया था. जांच में पाया गया कि सूद की राशि 46,440 रुपए में भी गड़बड़ी की गई है.बैंक स्टेटमेंट और खाता में अलग-अलग आंकड़े मिल रहे थे.

इस मामले में बीडीओ ने कहा कि सृजन द्वारा बैंक खाता में राशि जमा भी की जाती थी. यह वित्तीय अनियमितता का मामला है. बैंक और सृजन की मिलीभगत से खाता से राशि ट्रांसफर की गई है. वित्त विभाग की टीम से इसकी जांच करवाई जाएगी.

वित्तीय अनियमितता को लेकर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है.डीआरडीए समेत आठ प्रखंडों में हुए करोड़ों रुपये के घोटाले को लेकर 24 एफआईआर कोतवाली समेत अन्य थानों में दर्ज कराई गई है.

कहलगांव, शाहकुंड, जगदीशपुर और नवगछिया के बीडीओ ने इसकी रिपोर्ट दर्ज कराई थी. गृह विभाग ने प्रखंड में हुए घोटाले की एफआईआर सीबीआई को भेजने का आदेश दिया था लेकिन सीबीआई ने अभी केस का चार्ज नहीं लिया है. अभी 10 मामले की सीबीआई जांच कर रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.