Breaking News
December 12, 2018 - लालू निकलना चाहते हैं बाहर
December 12, 2018 - कृषि विभाग में निकली बंपर बहाली
December 12, 2018 - महागठबंधन में यह फार्मूला आया सामने
December 12, 2018 - तेज प्रताप भी जीत से उत्साहित
December 12, 2018 - हार के अगले दिन बिहार में योगी
December 12, 2018 - बिहार से बाहर जदयू के सभी प्रयासों का हुआ बुरा हाल
December 12, 2018 - महागठबंधन में बड़े भाई और छोटे भाई पर बिगड़ी बात
December 12, 2018 - लोस के शीत सत्र में सुपौल की कांग्रेस सांसद ने इन मुद्दों को ले दी स्थगन प्रस्ताव नोटिस
December 12, 2018 - वसुंधरा राजे सरकार के 30 में से 20 मंत्री चुनाव हार गए, बेटे को टिकट दिलवाया वो भी हार गये
December 11, 2018 - मुख्यमंत्री ने समाजवादी नेता स्व0 राम अवधेष चैधरी के श्राद्धकर्म में भाग लिया

वकीलों का सरकार पर बड़ा आरोप, मामले में SIT का हुआ गठन

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए


सूबे में सुशासन की सरकार की दावा करने वाले आज कुछ भी बोलने से चुप है. इनकी छुपी यूं ही नहीं है,बल्कि प्रदेश की लॉ एंड आर्डर की बिगड़ती स्थितियां इनकी बोलती बंद करा दी हैं. प्रशासन भी हिम्मत नहीं जुटा पाया कि मामले में तुरन संज्ञान लें. महज पांच घंटों से वकीलों के विरोध के बाद खबर है कि प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए एसआईटी का गठन किया है.

बहरहाल, बता दें कि दहारे एक अधिवक्ता की राजधानी पटना मे गोली मार हत्या कर दी गयी. इस बाबत वकीलों का कहना है कि यह सरकार एकदम संवेदनहीन हो गयी है. इस घटना की जितनी भी निंदा की जाये कम है. इतना ही नही यह सरकार तथा महा निरीक्षक सुरक्षा बच्चू सिंह मीना किसी को जान का खतरा होते हुए भी केवल इसलिये सुरक्षा नही प्रदान करते की इनके साथ अभी तक कुछ हुआ नही हुआ है. केवल धमकी ही तो मिला है. धमकी मिलने से कुछ नही होता उन्के अनुसार जब तक आपकी सही मे जान नही चल जायेगी आप पर खतरा इन्हे महसूस ही नही होता.

अधिवक्ता मणिभुषण प्रताप सेंगर ने बताया कि ऐसा ही पिछ्ले दो सालों से मेरे साथ हो रहा है. यह सर्वविदित है की मेरे द्वारा दायर सैकरों भ्रश्टाचार, घोटाला, अनियमितता तथा अन्य जनहित याचिकाओं के कारण मुझे हमेशा धमकियां मिलती रह्ती है और मुझ पर खतरा बना रहता है. जिसके कारण मैने कई बार अपनी सुरक्षा के लिये आवेदन दिया है. इसके बावजूद भी चुकी मुझे केवल धमकियां मिली है मेरे साथ कोई अपृय घटना घटी नही है. इसलिये श्रीमान बच्चू सिंह मीना महोदय जो की पुलिस महानिरीक्षक सुरक्षा हैं मुझे सुरक्षा प्रदान नही करते हैं. जबकी जांच के दौरान सभी जांच करने वाले पदाधिकारियों ने मुझपे व्याप्त खतरे की पुष्टि की है. फिर भी सुरक्षा नहीं मिला. इसपर अधिवक्ता मणिभुषण प्रताप सेंगर का कहना है कि पुष्टि के बाद क्या पता माननीय मीना साहब को मुझसे क्या बैर है. जो सुरक्षा नहीं मिला.

ऐसे में उन्होंने कहा कि अगर मेरे साथ कुछ भी अप्रिय होता है तो इसके लिये पूरे जिम्मेदार नितीश कुमार जी और पुलिस महानिरीक्षक सुरक्षा बच्चू सिंह मीना महोदय होंगे. इतना ही नही एक बड़े ही सम्वेदनशील तथा इंसानियत रखने वाले एक वरीय पुलिस पदाधिकारि ने मुझे सुरक्षा दिलवाई भी तो सरकार ने उसे भी दो महिने के बाद छिन लीया. अधिवक्ता मणिभुषण प्रताप सेंगर कहते है कि आखिर ये सरकार मेरे साथ चाहती क्या है? इस सरकार मे इससे ज्यादा ओर कूछ भी उम्मिद नही की जा सकती. अंत में आज घटना पर बोले कि इस घटना की जितनी भी निंदा की जाये कम है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles