Input your search keywords and press Enter.

बीजेपी हुई जेडीयू से खफा , कहा सीएम नीतीश कुमार से धोखा मिला

सीएम नीतीश कुमार ने मंगलवार को बिहार विधान सभा में सर्वसम्मति से NRC और NPR को लेकर प्रस्ताव पारित कर दिया .जिससे बिहार की जनता और विपक्षी नेता उनका तहे दिल से धन्यवाद कर रहे है ,तो वहीं नीतीश कुमार के लिए इस फैसले से बीजेपी के ज्यादातर नेताओं को नगवार गुजर रहा है.बीजेपी के नेता दबी जुबान में इसे जेडीयू का धोखा करार दे रहे हैं.

हलांकि बीजेपी नेता व प्रदेश के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि इस पर अब राजनीति बंद हो जानी चाहिए, लेकिन ऐसा लग रहा है , इस फैसले से राजनीति में नए सियासी समीकरण की शुरुआत हुई है.BJP MLC सच्चिदानंद राय ने कल के घटनाक्रम को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा है कि कहीं न कहीं कल का यह निर्णय BJP कार्यकर्ताओं को आहत करने वाला है.

वहीं तेजस्वी यादव (Tjesvi yadav) और सीएम नीतीश कुमार की मुलाकात के बाद हुए इस फैसले के बाद सूबे में नए सियासी समीकरण की सुगबुगाहट शुरू हो गई है. जाहिर है इससे बीजेपी (BJP) जहां निराश दिख रही है वहीं आरजेडी (RJD) की बांछें खिली हुई हैं.

BJP द्वारा जताए गए विरोध पर RJD ने चुटकी ली है. RJD विधायक डॉ. नवाज आलम का कहना है कि ये लोग बेवजह देश को मजहब के नाम पर बांटने की फिराक में थे, लेकिन हमारे नेता तेजस्वी यादव की पहल पर NRC के खिलाफ सरकार ने न सिर्फ कार्यस्थगन प्रस्ताव को मंजूरी दी बल्कि उसके विरुद्ध सदन के पटल से प्रस्ताव भी पारित करने का काम किया.