Input your search keywords and press Enter.

चकिया ट्रेन ब्लास्ट मामला : एएसपी अभियान के नेतृत्व में संयुक्त पुलिस टीम ने नक्सली डॉक्टर सहित दो को पकड़ा


फोटो-गिरफ्तार नक्सलियों के साथ एएसपी अभियान एवं अन्य पुलिस पदाधिकारी

डीबीएन न्यूज/मोतिहारी {मधुरेश}

Loading...

संयुक्त पुलिस टीम ने पूर्वी चंपारण के नक्सल प्रभावित पताही थाना क्षेत्र में बड़ी कार्रवाई की है. एएसपी अभियान एच.एस गौरव के नेतृत्व में बुधवार को रात भर नक्सलियों के ठिकाने पर चली छापेमारी में पुलिस ने वर्ष 2014 में चकिया में हुए रेलवे ब्लास्ट मामले में शामिल दो नक्सलियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार अपराधियों में नक्सलियों के डॉक्टर के रुप में प्रसिद्ध ललन सहनी एवं वासुदेव कुंअर शामिल हैं. दोनों नक्सली पताही थाने के परसौनी कपूर गांव के रहने वाले बताए जाते हैं. इसकी जानकारी देते हुए एएसपी अभियान श्री गौरव ने डीबीएन न्यूज को बताया कि स्पेशल ब्रांच द्वारा दी गयी सूचना के आधार पर एसएसबी 32 वीं वाहिनी, सैपबल एवं बिहार पुलिस को साथ लेकर संयुक्त पुलिस टीम गठित करते हुए पताही थाना क्षेत्र में बुधवार की देर रात से गुरुवार की अहले सुबह तक सघन छापेमारी की गयी. छापेमारी के दौरान वासुदेव कुंवर अपने घर से फरार हो गया. भागने के दौरान वह सड़क किनारे खड़ी एक गाड़ी के नीचे छुपने का प्रयास कर रहा था, इसी बीच वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया. जबकि ललन सहनी को उसके घर से दबोचा गया. गिरफ्तार ललन सहनी अपने पिता के साथ मिलकर मेडिकल स्टोर की दुकान चलाता था. एएसपी के मुताबिक इलाके में ललन की पहचान नक्सलियों के डॉक्टर के रुप में बन गयी थी.

एएसपी अभियान श्री गौरव ने बताया कि वर्ष 2014 में दिनांक 25-26 जून की रात चकिया में हुए रेल ब्लास्ट मामले में पुलिस को इन नक्सलियों की तलाश थी. इस संदर्भ में चकिया थाने में कांड संख्या 151/2014 दर्ज है. इन दोनों नक्सलियों की गिरफ्तारी पुलिस टीम के लिए बड़ी कामयाबी है. एएसपी अभियान श्री गौरव ने कहा कि पूर्वी चंपारण जिले में नक्सलियों के विरूद्ध सर्च ऑपरेशन लगातार जारी रहेगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.