Input your search keywords and press Enter.

चिराग पासवान ने कहा ,पशुपति कुमार में दिखती हैं पिता की छवि

जमुई के सांसद चिराग पासवान ने अपने चाचा और केंद्रीय खाद्य प्रसंस्‍करण मंत्री पशुपति कुमार पारस को धमकी देने के मामले की जांच की मांग की है.उन्‍होंने कहा कि एफआइआर हुई है तो सरकार गंंभीरता से मामले की जांच कराए.सच्‍चाई है तो सबूत सामने आना चाहिए.मुझ पर लगे आरोप की जांच होनी चाहि‍ए.उन्‍होंने कहा कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार उनके साथ है.चिराग ने इस दौरान मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर पार्टी और परिवार तोड़ने का आरोप भी लगाया.

प्रतिनिधिमंडल में लोजपा का नाम नहीं होने पर आपत्ति

चिराग पासवान ने कहा कि जातीय जनगणना के मुद्दे पर पीएम नरेंद्र मोदी से मिलने वाले प्रतिनिधिमंडल में लोजपा का नाम नहीं होना आपत्तिजनक है.लोजपा के सदस्‍य को भी प्रतिनिधिमंडल में शामिल किया जाना चाहिए था.चिराग ने कहा कि उन्‍होंने इस बाबत सीएम को पत्र भी लिखा था.जबकि हमारी पार्टी राष्‍ट्रीय पार्टी है.पिछले विधानसभा चुनाव 25 लाख लोगों ने हमे वोट दिया है.मुख्‍यमंत्री को यह बात समझनी चाहिए.अपने चाचा के इस बयान पर कि सूरज पश्चिम से उगेगा तब भी चिराग से मेल नहीं हो सकता. जमुई के सांसद ने कहा कि वे माने न मानें मैं उनका भतीजा रहूंगा ही. आज भी उन्‍हें अपना चाचा मानता हूं.उनमें अपने पिता की छवि देखी.हमेशा वे मेरे लिए उस भूमिका में रहेंगे.

चिराग पर धमकी देने का लगा आरोप

विदित हो कि लोजपा में बगावत के बाद से चिराग पासवान अकेले रह गए हैं. उनके चाचा पशुपति पारस, भाई प्र‍िंसराज और अन्‍य सांसद उनका साथ छोड़ चुके हैं.केंद्रीय मंत्रिमंडल में विस्‍तार में आपत्ति के बावजूद उनके चाचा पारस को केंद्र में मंत्री बनाया गया.वे राज्‍य के अलग-अलग जिलों में आशीर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं.इधर पारस एवं लोजपा के एक नेता ने धमकी दिए जाने की शिकायत थाने में दर्ज कराई है.पटना के शास्‍त्रीनगर थाने में दर्ज प्राथमिकी में चिराग पासवान को आरोपित किया गया है.