Input your search keywords and press Enter.

जातिगत जनगणना पर CM नीतीश कुमार ने दिया बड़ा बयान ,उम्मीद है प्रधानमंत्री सकारात्मक रुख रखेंगे

जातिगत जनगणना को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा बयान दिया है. नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार के सत्ता पक्ष और विपक्ष जातिगत जनगणना के मुद्दे पर एक हैं. उम्मीद है प्रधानमंत्री इस पर सकारात्मक रुख़ रखेंगे. इस मुलाकात पर हमारी नज़र है. नीतीश कुमार ने यह बयान समस्तीपुर बाढ़ प्रभावित इलाके का दौरा करने के बाद दिया है.

दरअसल, जातिगत जनगणना के मुद्दे पर बिहार में सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेता एकमत नजर आ रहे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 23 अगस्त को बिहार के तमाम दलों के नेताओं को अपने साथ लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर जातिगत जनगणना के लिए बात करेंगे. इसी को लेकर नीतीश कुमार ने कहा है कि जातिगत जनगणना को लेकर पीएम मोदी ने समय दिया है. 10 पार्टियों के प्रतिनिधि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने जा रहे हैं.

नीतीश कुमार ने कहा कि अभी हम लोग प्रधानमंत्री मोदी से यह मांग करेंगे कि केंद्र सरकार जातिगत जनगणना कराए. केंद्र के द्वारा पूरे देश में जातीय जनगणना नहीं होती है. तब राज्य सरकार के द्वारा बिहार में जातीय जनगणना कराए जाने पर सोचा जाएगा. सब लोगों की इच्छा है एक बार जातीय जनगणना जरूर हो. हम केंद्र से अनुरोध करेंगे और इस पर निर्णय लेना उनका अधिकार है. हर पार्टी से एक एक नेता प्रधानमंत्री के डेलिगेशन में शामिल है. मुझे उम्मीद है इस पर सकारात्मक बातचीत होगी, लेकिन निर्णय लेना प्रधानमंत्री का अधिकार है.

बाढ़ प्रभावितों के लिए काम कर रही सरकार
इस दौरान नीतीश कुमार ने कहा कि बाढ़ प्रभावित लोगों के लिए सरकार लगातार काम कर रही है. इससे लोग संतुष्ट हैं. गंगा नदी का जलस्तर नीचे जा रहा है, जिससे लोगों को राहत मिल रही है. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर नीतीश कुमार ने कहा है कि राष्ट्रीय परिषद की बैठक में इस पर बात हुई है. पार्टी के नेता इसे देख रहे हैं.

हर घर नल योजना पर तेजी से हो रहा काम
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हरघर नल योजना पर तेजी से काम हो रहा है . इस पर 2016 से काम चल रहा है. कुछ कुछ जो बचा हुआ है, उसपर तेजी से काम किया जाएगा. कुछ दिन पहले तक 90% से अधिक काम पूरा हो चुका था.