Input your search keywords and press Enter.

पेट्रोल और डीजल तैयार रखो, जैसे ही आदेश मिले सब फूंक देना: कांग्रेस नेता

कांग्रेस के पूर्व सांसद और वरिष्ठ नेता प्रदीप मांझी एक विवादित बयान देते हुए कैमरे में कैद हुए हैं। ओडिशा के नबरंगनगर में नाबालिग के रेप और हत्या के मामले पर कांग्रेस ने गुरुवार को बंद बुलाया था। कांग्रेस सांसद को फोन पर किसी के कहते हुये सुना गया, ‘पेट्रोल और डीजल तैयार रखो, जैसे ही आदेश मिले सब फूंक देना, फिर देखते हैं आगे क्या होता है।’ यही नहीं, बाद में मांझी ने कहा कि उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं के ऐसे निर्देश देने पर कोई अफसोस नहीं है। बता दें कि प्रदीप ओडिशा कांग्रेस के वर्किंग प्रेसिडेंट भी हैं।

रअसल, नबरंगनगर में 14 दिसंबर को एक नाबालिग का रेप कर उसकी हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद कांग्रेस ने पुलिस-प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ 12 घंटे का बंद बुलाया था। इस बंद के दौरान मांझी अपने किसी कार्यकर्ता से फोन पर ऐसी बात कहते हुए कैमरे में कैद हो गए। हालांकि उन्होंने बाद में सफाई देते हुए अपने बयान को सही ठहराने की कोशिश भी की।

सुभाष चंद्र बोस की नीति अपनाई है

प्रदीप मांझी ने कहा, “जब सरकार मासूम का रेप और हत्या जैसे मामले में कोई कदम ना उठाए, तब हम लोगों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की नीति अपनाई है।” उन्होंने कहा कि एक के बाद एक ऐसी घटनाएं हो रही हैं, लेकिन सरकार और गृह मंत्रालय कुछ नि कर रही है।

Hindi News/ खबरें/देशFeedback कांग्रेस नेता बोले- तैयार रखो पेट्रोल-डीजल, आदेश मिलते ही सब फूंक देना नबरंगनगर में 14 दिसंबर में एक नाबालिग का रेप कर उसकी हत्या कर दी गई थी. इस घटना के बाद कांग्रेस ने पुलिस-प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ 12 घंटे का बंद बुलाया था. इस बंद के दौरान मांझी अपने किसी कार्यकर्ता से फोन पर ऐसी बात कहते हुए कैमरे में कैद हो गए. फोटो- प्रदीप मांझी ट्विटरफोटो- प्रदीप मांझी ट्विटर

aajtak.in भुवनेश्वर, 27 दिसंबर 2019, अपडेटेड 12:57 IST

कैमरे में कैद कांग्रेस नेता का भड़काऊ बयानरेप की घटना के खिलाफ बुलाया था बंदबीजेपी-बीजेडी ने बयान की निंदा की कांग्रेस के पूर्व सांसद और वरिष्ठ नेता प्रदीप मांझी एक विवादित बयान देते हुए कैमरे में कैद हुए हैं. ओडिशा के नबरंगनगर में नाबालिग का रेप और हत्या के मामले पर कांग्रेस ने गुरुवार को बंद बुलाया था. कांग्रेस सांसद को फोन पर किसी के कहते सुना गया, ‘पेट्रोल और डीजल तैयार रखो, जैसे ही आदेश मिले सब फूंक देना, फिर देखते हैं आगे क्या होता है.’ यही नहीं, बाद में मांझी ने कहा कि उन्हें पार्टी कार्यकर्ताओं के ऐसे निर्देश देने पर कोई अफसोस नहीं है. बता दें कि प्रदीप ओडिशा कांग्रेस के वर्किंग प्रेसिडेंट भी हैं।

दरअसल, नबरंगनगर में 14 दिसंबर में एक नाबालिग का रेप कर उसकी हत्या कर दी गई थी. इस घटना के बाद कांग्रेस ने पुलिस-प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए इसके खिलाफ 12 घंटे का बंद बुलाया था. इस बंद के दौरान मांझी अपने किसी कार्यकर्ता से फोन पर ऐसी बात कहते हुए कैमरे में कैद हो गए. हालांकि उन्होंने बाद में सफाई देते हुए अपने बयान को सही ठहराने की कोशिश भी की.

‘हमनें अपनाया बोस का रास्ता’

प्रदीप मांझी ने कहा कि जब सरकार मासूम का रेप और हत्या जैसे मामले में कोई कदम ना उठाए तब हम लोगों ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की नीति अपनाई है. उन्होंने कहा कि एक के बाद एक ऐसी घटनाएं हो रही हैं, लेकिन सरकार और गृह मंत्रालय कर कर रहा है, अब बहुत हो चुका.

मांझी ने अपने बयान के बचाव में दलील दी कि “जब गांधीजी के सिद्धांतों पर चलकर हम गरीब को इंसाफ नहीं दिला सके, तो हमें नेताजी के विचार अपनाने के लिए बाध्य होना पड़ा, कानून को हाथ में लेना हमारी मजबूरी हो गई है।”

बीजेपी-बीजेडी ने बयान की निंदा की

कांग्रेस नेता के बयान के बाद बीजेपी ने सीधे पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी पर निशाना साधा है। बीजेपी आईटी सेल के इंचार्ज अमित मालवीय ने मांझी के बयान से जुड़ी खबर ट्वीट करते हुए लिखा, ‘इससे जाहिर है कि क्यों सोनिया गांधी ने CAA हिंसा पर दिया संबोधन में कभी शांति की अपील नहीं की, काडर कनफ्यूज जो हो जाता।’

राज्य में सत्ताधारी पार्टी बीजेडी ने भी मांझी के बयान की आलोचना की है। पार्टी सांसद रमेश मांझी ने कहा कि पुलिस इस केस की पड़ताल कर रही है और जल्द ही पोस्ट मार्टम रिपोर्ट भी सार्वजनिक की जाएगी। राज्य में बीजेपी नेता जयराम पंगी ने कहा कि ऐसे बयानों के जरिए कांग्रेस नेता यहां अराजकता फैलाने का काम कर रहे हैं।