Input your search keywords and press Enter.

कोरोना से मरने वाले वकीलों के परिजनों को 50 लाख मुआवजा देने की मांग, SC ने खारिज की याचिका

कोविड संक्रमण से मरने वाले वकीलों के परिवार को 50 लाख रुपये का मुआवजा देने का निर्देश देने की मांग वाली याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया है. शीर्ष अदालत ने कहा कि जब सभी लोगों को ऐसी ही समस्या का सामना करना पड़ रहा है, तो वकीलों को स्पेशल ट्रीटमेंट देने का कोई कारण नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका को दायर करने वाले वकील पर दस हजार का जुर्माना भी लगाया है.

कोर्ट ने याचिकाकर्ता वकील प्रदीप यादव  को फटकार लगाई है. कोर्ट ने कहा कि जब समाज के अन्य सदस्यों को समान समस्या का सामना करना पड़ा है तो अधिवक्ता को अपवाद बनाने का कोई कारण नहीं है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अगर आप याचिका कॉपी पेस्ट करके देंगे तो ऐसा नहीं होगा कि जज उस कॉपी को नहीं पढ़ेंगे. यह कहते हुए जज ने वकील प्रदीप यादव पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगा दिया.

कोर्ट ने यह भी कहा कि याचिकाकर्ता को जुर्माने की राशि एक हफ्ते के अंदर-अंदर जमा करनी होगी. वकील प्रदीप यादव ने अपनी याचिका में यह निर्देश देने की मांग की थी कि कोरोना संक्रमण या किसी अन्य वजह से मरने वाले 60 साल से कम उम्र के वकीलों के परिवार के सदस्य को तत्काल प्रभाव से 50 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए.