Input your search keywords and press Enter.

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने वृक्षारोपण कर किया वन महोत्सव का शुभारंभ

राज्य सरकार द्वारा पर्यावरण व वन विभाग की ओर से राजधानी पटना में वन महोत्सव 01 से 10 अगस्त तक आयोजन किया जा रहा है. महोत्सव का शुभारंभ आज उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने पौधा लगा कर किया. इस महोत्सव में पर्यावरण व वन विभाग की ओर से 1 करोड़ पौधारोपण किया जायेगा. इसके अतिरिक्त ग्रामीण विकास विभाग मनरेगा के तहत सामाजिक वानिकी कार्यक्रम के अंतर्गत 50 लाख और भी पौधा लगाया जाना है.

विदित हो कि यह निर्णय पर्यावरण व वन विभाग तथा ग्रामीण विकास विभाग की उच्चस्तरीय बैठक में पहले से ही ले लिया गया है. सामाजिक वानिकी के तहत सरकारी व निजी जमीन पर 200 पौधे की दर से 25 हजार इकाई में पौधारोपण करने का लक्ष्य है. सभी पौधे बांस के गैबिनयन के अंदर लगाया जायेगा तथा सरकारी व सामुदायिक जमीन पर लगाये जाने वाले पौधों की सुरक्षा के लिए प्रति इकाई (200 पौधों पर) दो वनपोषक होंगे, जिन्हें प्रति माह मनरेगा के अंतर्गत 8 मानव दिवस की मजदूरी यानी प्रति मजदूर 1400 रुपये प्रतिमाह का भुगतान किया जायेगा.

Loading...

निजी जमीन पर भी मनरेगा के अंतर्गत प्रति इकाई 200 पौधे का रोपण किया जायेगा. अगर एक किसान के पास 200 पौधे लगाने लायक जमीन नहीं होगी तो दो या तीन किसानों का एक कलस्टर बना कर पौधे लगाये जायेंगे और उसकी देखभाल की जिम्मेवारी किसानों की होगी. निजी भूमि पर केवल फलदार पौधे भी लगाये जा सकते हैं. निजी, सरकारी व सामुदायिक भूमि पर लगाये जाने वाले पौधों को पानी देने के लिए दो इकाई पर एक चापाकल या ट्रॉली सह पानी की टंकी की व्यवस्था की जायेगी.

वन महोत्सव के दौरान ग्रामीण विकास विभाग पूरे प्रदेश में सघन पौधारोपण के लिए पर्यावरण व वन विभाग से समन्वय स्थापित कर अभियान चलायेगा. सरकारी, सामुदायिक व निजी भूमि पर पौधारोपण के लिए प्रखंडवार व पंचायतवार कार्यक्रम आयोजित कर आम लोगों को प्रेरित किया जायेगा. बैठक में पर्यावरण व वन विभाग के प्रधान सचिव, ग्रामीण विकास विभाग के सचिव तथा प्रधान मुख्य वन संरक्षक आदि शामिल थे.