Input your search keywords and press Enter.

डीएम ने इंटरमीडिएट +2 उच्च माध्यमिक कक्षा में नामांकन सत्र 2018 – 20 मे OFSS माध्यम से कराने हेतु बैठककर. दिये कई दिशा निर्देश

अरवल {के कुमार श्रवन}

जिला पदाधिकारी सतीश कुमार सिंह की अध्यक्षता में इंटरमीडिएट +2 उच्च माध्यमिक कक्षा में नामांकन सत्र 2018 – 20 मे OFSS माध्यम से कराने हेतु बैठक संपन्न की गई. उपस्थित जिला के सभी उच्च विद्यालय के प्रधानाध्यापक तथा सभी कॉलेज के प्रधानाचार्य को जिलाधिकारी ने कहा कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना से सूची प्राप्त होने के बाद कम से कम तीन चरणों में नामांकन का कार्य शुरू कर देना है.

सभी नामांकित विद्यालयों मे कम से कम चार काउंटर रखना आवश्यक है. अधिक संख्या में बच्चों की रहने पर इसकी संख्या बढ़ाई जा सकती है. नामांकन का कार्य रविवार को भी किया जायेगा. सभी काउंटर पर अलग-अलग कर्मी प्रतिनियुक्त रहेंगे. नामांकन के बाद अगले दिन किसी भी परिस्थिति में नामांकन को बोर्ड के वेबसाइट पर अपलोड कर देना है, तथा इसकी सूचना गठित सेल को भी दे देना है. जिस विद्यालय से छात्र एवं छात्राएं उत्तीर्ण हुए हैं, उनका नामांकन उसी विद्यालय में होगा. अगर ये अपना नामांकन दूसरे विद्यालय में करना चाहते हैं, तो इनका नामांकन दूसरे विकल्पित विद्यालय में कर लेना हैं.

Loading...

Widget not in any sidebars

नामांकन शुल्क के बारे में जिलाधिकारी ने कहा कि बोर्ड द्वारा निर्धारित शुल्क 1135.00 रुपये ही लेना है. इसकी सूचना स्कूल के सूचना पट्ट पर भी चिपका देना है. ऑनलाइन पोर्टल पर व्यय किये गये राशि का वहन विद्यालय के छात्र कोष से किया जायेगा. पूरी प्रक्रिया का अनुश्रवण एवं निष्पादन उप विकास आयुक्त अरवल के द्वारा किया जायेगा. जिला कार्यक्रम पदाधिकारी माध्यमिक शिक्षा अरवल के माध्यम से एक नियंत्रण सेल का गठन किया गया है. जिसमें रोहित कुमार लिपिक तथा दीनानाथ राम लिपिक कार्यरत रहेंगे. जिलाधिकारी ने आगे संबोधन में निदेशित किये कि इस जिला में कुल 45 हाई स्कूल एवं 09 महाविद्यालय है. सभी के परिसर में वृक्षारोपण कम से कम 200 हो जाना चाहिए. एक यूनिट दो सौ के वृक्षारोपण पर बाद में इसके पटवन के लिए चापाकल भी उपलब्ध करा दिया जायेगा. अपने स्कूल सभी वर्ग के बच्चों को चुनकर उसी के नाम पर वृक्ष लगाना है. वृक्ष के पास उसका नाम एक छोटे बोर्ड पर लिख देना है. बच्चा इस पौधा का देखभाल करेगा और समय पर इसका पटवन भी करेगा. बचा महसूस करेगा की यह पौधा मेरा है और इस पर ध्यान देगा. स्कूल के शिक्षकों द्वारा भी पौधो पर बराबर ध्यान देते रहना है.

DIGI Singing Star Audition के लिए क्लिक करें

करपी उच्च विद्यालय के परिसर में वर्षा के पानी से बच्चों को होने वाले कठिनाइयों के संबंध में जिलाधिकारी ने निदेशित किये कि नजदीक में ईंट भट्ठों का धूल ईट से शीघ्र भर दिया जाये. ताकि पानी जमा होने की समस्या दूर हो जाये. प्रबंध समिति के पास फंड में राशि रहता है. समिति की बैठक कर इसकी निर्णय है लेकर शीघ्र कराया जाये. फंड का सही खर्च ऐसे ही मामलों पर होनी चाहिए. समिति की बैठक में प्रत्येक माह में कम से कम एक बार की जाये, और स्कूल की आवश्यकताओ पर निर्णय लेकर व्यय किया जाये. बैठक सभी स्कूलों की होनी चाहिए एवं उचित निर्णय लेकर कार्य संपादन होते रहना चाहिये. यह विद्यालय के फंड है उसे सही ढंग से खर्च करना है. बैठक में डीडीसी राजेश कुमार, जिला शिक्षा पदाधिकारी अंबिका प्रसाद के साथ अन्य पदाधिकारी एवं प्रधानाध्यापक उपस्थित थे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.