Breaking News
June 18, 2019 - सीपी ठाकुर ने नीतीश कुमार को दी नसीहत, बीमारी आती है तब सरकार सक्रिय होती है
June 18, 2019 - जिलाध्यक्षों पर बड़ी कार्रवाई की तैयारी में राजद, नए सिरे से पार्टी के गठन पर जोड़
June 18, 2019 - ‘चमकी’ बुखार पर बैठक के दौरान मैच का स्कोर पूछते दिखे स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे
June 17, 2019 - विधानसभा के लिए हम ने 35-40 सीटों पर ठोका दावा
June 17, 2019 - इंसेफेलाइटिस को लेकर नीतीश कुमार ने लिया बड़ा फैसला
June 17, 2019 - गर्मी की वजह से गया में धारा 144 लागू, स्कूलों की छुट्टियां और बढ़ी
June 17, 2019 - नीतीश कुमार पर सवाल सुन भड़क उठे मंत्री श्याम रजक
June 17, 2019 - सवर्णों पर फिर हमलावर हुई राजद
June 17, 2019 - ऐसे लोग कैसे मंत्री बन जाते है
June 15, 2019 - यूपी में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल से मरीज बेहाल

डीएनए की लड़ाई फिर शुरू, तेजस्वी को मिल गया मुद्दा

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

tejashwi nitish

गुजरात में बिहारियों पर हो रहे हमले और हजारों की संख्या में गुजरात से बिहार पलायन को लेकर भाजपा और कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप थम नहीं रहा है. वहीं, राजद नेता भी नीतीश सरकार पर लगातार हमले बोल रहे हैं. अब इसी क्रम में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश को आड़े हाथों लेते हुए निशाना साधा है.

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने गुजरात में बिहारियों सहित उत्तर भारतीयों पर हमले को लेकर ट्वीट किया है. उन्होंने अपने ट्वीट में एक कार्टून शेयर कर लिखा है कि ” गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बिहार बाढ़ राहत सहायता कोष में दी गयी 5 करोड़ की राशि लौटाने वाले स्वयंभू स्वाभिमानी नीतीश कुमार जब 20 हज़ार बिहारियों को गुजरात से पीटकर भगाया गया है तो चुप है. पीएम मोदी जी ढंग से नीतीश जी का DNA पहचानते है तभी DNA ख़राब बताया था. “

दरअसल, गुजरात में बिहारियों पर हमले के तीन दिन बीतने के बाद नीतीश कुमार ने गुजरात के सीएम विजय रूपाणी से इस मुद्दे पर बात की. नीतीश ने गुजरात में निर्दोष लोगों पर हो रहे हमले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. उन्होंने वहां के सीएम विजय रूपाणी से गुजारिश की है कि बिहार के लोगों को उचित सुरक्षा मुहैया कराई जाए. उन्होंने कहा था कि कहा, ‘मैंने कल (रविवार) गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी से बात की. हम उनसे संपर्क में हैं और वह हालात पर नजर रख रहे हैं. जिन्होंने हमले किए हैं उन्हें सजा मिलनी चाहिए और किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए.’

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान पीएम ने बिहारियों के डीएनए को खराब बताया था और पीएम मोदी ने यहां तक कहा था कि बिहार की राजनीति के डीएनए में कुछ कमी है जिसके चलते उन्हें अपने साथी को छोड़ना पड़ा है. पीएम के इस बयान के बाद तो सुशासन बाबू ने बिहारियों को ललकारा था और अपमान का बदला लेने के लिए 50,000 लोगों ने पीएम मोदी को अपना डीएनए सैंपल के रूप में बाल और नाखून भेजकर डीएनए टेस्ट करने की बात की थी. लेकिन पिछले कुछ दिनों की राजनीतिक हलचल देखने के बाद पता चला की सचमुच सुशासन बाबू का डीएनए बदल गया.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles