Input your search keywords and press Enter.

ईद के बाद ईद मिलन समारोह जारी,प्रेम व भाइचारे के पैगाम से सराबोर हुए लोग

डीबीएन न्यूज/जौवाद हसन(मधुबनी) – ईद के त्योहार के बाद ईद मिलन समारोह के आयोजन का सिलसिला प्रारंभ हो गया है. कल ईद मिलन समारोह मधुबनी जिले के बेनीपट्टी प्रखंड के नजरा गांव में आयोजित किया गया. सद्भावना मंच नजरा द्वारा आयोजित इस ईद मिलन समारोह में दोनों समुदाय के लोग एकत्र हुए. साथ ही एक दूसरे को गले लगाकर आपसी भाईचारगी का संदेश दिया.

समारोह को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व सेवानिवृत्त शिक्षक धर्म नारायण झा (विमल बाबू) ने कहा कि ईद आपसी भाईचारे का त्यौहार है जिसमें गले मिलने के बाद सारे गिले शिकवे दूर हो जाते हैं.


Widget not in any sidebars

विशिष्ट अतिथ राजेंद्र मिश्र विद्यार्थी ने अपने संबोधन में सभी को ईद की बधाईयां देने के साथ इलाके के विकास के लिए बच्चों को तालिम देने पर जोर दिया. बोले शिक्षित समाज से बेहतर समाज का निर्माण होता है.

बेनीपट्टी एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने मास्टर हमीद साहब के प्रांगण में आयोजित इस ईद मिलन समारोह को एतिहासिक बताया. बोले एक स्थान पर दोनों समुदाय के लोग एकत्र होकर आपसी भाईचारगी का परिचय दे रहें है. यह भारत की सभ्यता और संस्कृति को दर्शाता है. बोले इस तरह के कार्यक्रम से सभी को सीख लेने की जरूरत है. बेनीपट्टी आरक्षी निरक्षक प्रवीण कुमार ने कहा कि सभी को सदैव आपसी भाईचारगी से मिलजुलकर रहना चाहिए. वही बेनीपट्टी थाना अध्यक्ष हरेराम शाह ने कहा कि भारत का हर पर्व मेल मोहब्बत का पैगाम देता है.

Loading...

समारोह के मुख्य वक्ता व इस्लामिक जानकर सनाउल्लाह ने कहा कि हर इंसान सम्मान का पात्र है और हर इंसान बराबरी का हकदार इसलिए है कि क्योंकि वो एक इंसान है. इस दुनिया में इंसानियत ही सबसे बड़ा धर्म है और हर धर्म हमें यही सिखाता है.

सामाजिक कार्यकर्ता हाफिज हस्सान बदर ने कहा कि आज समाज में हर तरफ सिर्फ झगड़े, फसाद का जहर फैलाया जा रहा है लेकिन कुछ लोगों की वजह से देश के लोगों के बीच आपसी भाईचारा कभी खत्म नहीं होगा.

ईद मिलन के मौके पर हर साल आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम के बारे में इक़बाल अहमद ने कहा कि ऐसे कार्यक्रम आयोजित करने का उद्देश्य यही है कि लोगों में आपसी भाईचारा बना रहे और सब लोग एक दूसरे को समझ सकें ताकि इस समाज में भाईचारे और एकता व सद्भाव को बल मिल सके.ऐसे आयोजन से फिरकापरस्त ताकतें भी नाकाम होंगी जो धर्म के नाम पर एक हिंदुस्तानी को दूसरे हिंदुस्तानी से लड़ाने का प्रयास कर रही हैं.

समापन समारोह के दौरान “जमाते इस्लामी हिन्द” नजरा यूनिट के आयोजक हाफिज मोहम्मद अली ने आए हुए मेहमानों व मौजूद लोगों का आभार व्यक्त किया.

कार्यक्रम में विशेष रूप से अशोक चौधरी, नज़ीर अहमद, उमर तारिक, महमूद आलम, इक़बाल अख्तर, इंजीनियर जेया अर्शी, सुल्तान ज़फर, मोहम्मद मुनाफ (लाडले), परवेज़ आलम, मो० असद, बचनु मंडल, नासिर हुसैन, अम्मार यासिर, आयतुल्लाह, अमानुल्लाह अमान (अन्नू), राम प्रमोद यादव, प्रभु यादव, बसंत पासवान, रविंद्र राम, आदि मौजूद थे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.