Input your search keywords and press Enter.

भारत बंद को लेकर उग्र प्रदर्शन, उपद्रवियों का रहा तांडव,एक मासूम बच्ची को उपद्रवियों ने किया जख्मी…

उपद्रवियों का शिकार मासूम बच्ची फोटो

डीबीएन न्यूज/मुजफ्फरपुर(मो साकिब)- सुप्रीम कोर्ट द्वरा एससी-एसटी एक्ट में बदलाव के विरोध में लोग सड़कों पर उतर गए है.दलितों और आदिवासियों के उत्पीड़न में सीधे गिरफ्तार और केस दर्ज करने पर रोक लगाने के फैसले के खिलाफ दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वाहन किया था. इसका असर बिहार के कई जिलों में देखने को मिल रहा है.

मुजफ्फरपुर जिले में भी भारत बंद का असर देखने को मिला. जिले में बंद समर्थकों ने जगह-जगह सड़क और रेलवे ट्रैक जाम कर उग्र प्रदर्शन किया. ट्रेन व सड़क यातायात पर इसका व्यापक असर पड़ा. बन्द का कई विपक्षी दलों का समर्थन मिलने से असर काफी दिखा.

Loading...

मुजफ्फरपुर जिले के मोतीपुर, मड़वन, बोचहां, में बंद के दौरान लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा. जिले में चारों ओर सभी एनएच और स्टेशन पर ट्रेनों को बंद समर्थको ने रोक दिया. मुजफ्फरपुर शहर के मोतीझील स्तिथ श्याम सिनेमा हॉल में कुछ लोगों के द्वरा जमकर अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया. मार्केट के दुकानों को बंद कराया गया.शहर में कई जगहों पर आवागमन को बाधित कर केंद्र सरकार के खिलाफ नारे बाजी की गई. जिस कारण राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा.

वहीं मोतीपुर में एनएच 28 पर आवागमन पूर्ण रूप से बंद कर दिया गया. महादलित के नेताओं के द्वारा प्रखंड मुख्यालय का घेराव किया गया. मोदी सरकार के विरुद्घ जमकर नारेबाजी की गई. मोतीपुर रेलवे स्टेशन पर आगजनी किया गया. साथ-साथ मिथला एक्सप्रेस ट्रेन रोक कर चालक की जमकर पिटाई भी कर दिया गया. उसे एक रूम में बंद कर दिया गया.

वहीं एससी -एसटी मोर्चा के आह्वान पर आयोजित बंद का भीम आर्मी, राजद, हम, भाकपा माले, कांग्रेस, सपा आदि संगठनों ने समर्थन किया. सभी संगठन के लोग बंद के लिए लाठी-डंडा से लैस होकर सड़क पर उतर गए.मुजफ्फरपुर जिले में बंद का व्यापक असर दिखा.

वहीं शहर के माड़ीपुर पूल पर ऑटो सवार यात्रियों पर भीम सेना के द्वारा लाठी बरसाये जाने से एक मासूम बच्ची बुरी तरह जख्मी हो गई है जिसे इलाज के लिए हॉस्पिटल भेजा गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.