Input your search keywords and press Enter.

गिरिराज सिंह ने नीतीश कुमार पर लगाया नहीं मिलने का आरोप

राजद के बाद अब भाजपा भी चली “माय” समीकरण की राह. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने अपना ‘माय’ समीकरण सभी के सामने रखा हैं. यह उनका अपना फार्मूला हैं. जो राजद के “माय” को शिकस्त दे सकता हैं. इस बाबत जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि उनका “माय” समीकरण राजद की तरह जाति-धर्म से संबंधित राजनीतिक सूत्र नहीं है.


Widget not in any sidebars

यह एक समाजिक समीकरण है. जो सभी जाति-धर्म के लोगों के लिए है. यह समीकरण गरीबी के खिलाफ एक अभियान है. उन्होंने बताया कि यह “माय” नवादा के घरों में चल रहा हैं. इसके तहत नवादा के खनवा में चल रहे सोलर चरखे से लोगां को छह से 10 हजार रुपये तक की आमदनी हो रही है.

गिरिराज सिंह इसे राज्य भर में लागू करना चाहते हैं. इसके लिए वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से वक़्त मांगे थे, लेकिन उन्होंने यह जानकारी दी कि सीएम को अभी तक वक़्त नहीं मिला. इस पर पलटवार करते हुए जदयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि विकास के लिए नीतीश कुमार किसी से भी मिलाने के लिए तैयार रहते हैं.

Loading...

गिरिराज सिंह तो केंद्रीय मंत्री हैं. उनसे वो क्यों नहीं मिलेंगे? अगर कोई गलतफहमी हुई है तो उसे दूर कर लिया जायेगा. साथ ही संजय सिंह ने चुटकी लेते हुए कहा कि गिरिराज सिंह मीडिया के डार्लिंग हैं, उन्‍हें हमसे बेहतर पता है कि मीडिया में कैसे रहना है. बता दें कि गिरिराज सिंह के इस बयान पर वहीं राजद सांसद मनोज झा ने कहा कि राजद किसी जाति या धर्म की नहीं बल्कि गरीबों की पार्टी है. वे गिरिराज को गंभीरता से नहीं लेते.

यह भी पढ़ें:
‘कश्मीर को बद से बदतर बना कर ‘कायरों’ की तरह झोला उठा कर निकल पड़े मोदी जी’

देश से विरोधियों का अब सफाया होकर रहेगा : गिरिराज सिंह

जम्मू-कश्मीर में पीडीपी और बीजेपी गठबंधन टूटने पर शत्रुघ्न सिन्हा ने भी लिए मजे

Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.