Input your search keywords and press Enter.

अगर ऐसा हो गया तो एक दिन के लिए मुख्यमंत्री बनकर रह जायेंगे नीतीश कुमार!

nitish taking oath
nitish taking oath

file photo

ब्लॉग. पर्बिंद कुमार. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री पद की शपथ तो ले ली है लेकिन अब भी बहुमत साबित करना बाकी है. स्थिर सरकार के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को कल बहुमत सिद्ध करना होगा. अगर आंकड़े की बात करे तो एनडीए के साथ जदयू के आने से नीतीश को बहुमत सिद्ध करने में परेशानी नहीं होनी चाहिए, लेकिन जिस तरह से विधायकों के पाला बदलना शुरू कर दिया है और लगातार उनको फ़ोन कॉल मिल रहे है उससे बगावती तेवर की आशंका व्यक्त की जा रही है. इसलिए कल नीतीश के लिए बहुत साबित करना आसन नहीं होगा जितना आप सोच रहे है.

Loading...

243 सदस्यों वाली विधानसभा में बहुमत के लिए 122 विधायकों की जरूरत है. शुक्रवार को होने वाले फ्लोर टेस्ट से पहले इन तीन ऑप्शन पर भी सबकी नजर रहेगी. नीतीश के पास 71 विधायक हैं. बहुमत का आंकड़ा 122 है. बीजेपी का साथ मिलने पर जदयू को एनडीए के 58 विधायकों का समर्थन मिला है. इससे आंकड़ा 129 हो गया है जो बहुमत से 7 ज्यादा है. हालांकि भाजपा नेता सुशील मोदी 132 विधायकों के समर्थन की बात कह रहे हैं. इसका मतलब साफ है विपक्षी पार्टी के कुछ विधायक इधर आ सकते हैं.

राजद के आंकड़े क्या कहते है देखिये: बिहार विधानसभा की सबसे बड़ी पार्टी है. उनके पास 80 विधायक हैं और कांग्रेस अपने 27 विधायकों के साथ राजद के पक्ष में है. दोनों को मिला दें तो संख्या 107 तक पहुंचती है और बहुमत के लिए 15 विधायक कम पड़ते हैं. तेजस्वी का दावा है कि जदयू के 24 विधायक उनकी संपर्क में है. अगर राजद जदयू के 24 विधायकों को तोड़ने में कामयाब रहती है तो पूरा खेल बदल जायेंगा और मुख्यमंत्री को इस्तीफा देना पड़ सकता है. इस तरह सिर्फ एक दिन का कार्यकाल हो जायेगा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का…

इस न्यूज़ को शेयर करे और कमेंट कर अपनी राय दे.

[shareaholic app=”share_buttons” id=”18820564″]

Leave a Reply

Your email address will not be published.