Input your search keywords and press Enter.

भाग्य का खेल, जिस दिन बजने वाली थी शहनाई अब उसी दिन होगा युवक का श्राद्ध

न्यूज़ डेस्क : रोहतास जिले के शिवसागर थाने के थनुआ गांव में एक ऐसी घटना घटित हुई है कि जो भी उसे सुन रहा है उसकी आंख भर जा रही है. इसे महज एक संयोग ही नहीं बल्कि किस्मत का खेल भी कहिए कि जिसे दिन एक युवक मनीष कुमार की शादी होनी थी उसी दिन अब उसी घर में उसका श्राद्ध कराया जाएगा.

मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि थनुआ गांव के मनीष कुमार का 14 मई को तिलक और 20 मई को बारात था. लड़के और लड़की पक्ष के यहां जोर-शोर से तैयारी चल रही थी. बारात शिवसागर प्रखंड के ही मुरलीपुर गांव में जानी थी. घर पर रिश्तेदारों का जमावड़ा लगने लगा था. तभी अचानक किस्मत ने पलटी ली और घर में शहनाई की आवाज बजने से से पहले ही मातमी सन्नाटा पसर गया. जो कोई भी यह घटना सुन रहा है वह स्तब्ध रह जा रहा है.

Loading...

Widget not in any sidebars

मनीष कुछ दिन पहले ही बाईक चलाना सिखा था. उसके पिता किसी काम से बाहर जा रहे थे तो मनीष उन्हें बाईक से छोड़ने की जिद्द करने लगा. माता-पिता ने लाख मना किया और ऑटो से जाने की बात कही पर मनीष नहीं माना. उसके जिद्द के आगे मजबूर होकर पिता बाइक से जाने को तैयार हो गये. बाईक लेकर जैसे ही वह गांव स्व बाहर निकला, अनियंत्रित होकर बाईक पोल से टकरा गई. जब तक आसपास के लोग वहां पहुंचते उस से पहले ही मनीष की घटनास्थल पर मृत्यु हो गई जबकि पिता गंभीर रूप से घायल हो गए. मौके पर उपस्थित लोगों ने दोनों को सदर अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टर ने मनीष को मृत घोषित कर दिया जबकि गंभीर रूप से घायल पिता को चिंताजनक स्थिति में वाराणसी रेफर कर दिया गया है. इस घटना की सूचना जैसे ही वर-वधु पक्ष वालों को लगी, घर में कोहराम मच गया. मनीष की मां का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है. यह महज नियति का खेल ही है कि जिस दिन मनीष की शादी होने वाली थी अब उसी दिन घर में उसका श्राद्धकर्म किया जाएगा.

Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.