Breaking News
November 20, 2018 - मंजू वर्मा के अधिवक्ता ने बताया क्यों नहीं कर पा रही थी सरेंडर
November 20, 2018 - नीतीश कैबिनेट में विधायकों के वेतन भत्ते पर लगी मुहर
November 20, 2018 - मंत्री मंजू वर्मा ने शातिर तरीके से किया सरेंडर
November 19, 2018 - जहानाबाद गांधी मैदान से भाजपा के खिलाफ आर-पाार की लड़ाई होगी, दीपंकर ने किया ऐलान
November 19, 2018 - अरवल : डीएम ने जिला स्तरीय समीक्षात्मक बैठक कर दिए कई निर्देश
November 19, 2018 - कुशवाहा के जाने से हो जाएगी लोजपा की बल्ले-बल्ले
November 19, 2018 - नीतीश के वजह से एनडीए में नहीं है आदर्श स्थिति
November 19, 2018 - राम मंदिर निर्माण पर 25 को अयोध्या में बवाल, बीजेपी और आरएसएस बना रही पसीना
November 19, 2018 - नीतीश के सपोर्ट में खड़ा हुए जदयू के धुरंधर, अकेले मुकाबला कर रहे तेजस्वी
November 19, 2018 - अरवल : बसपा जिलाध्यक्ष किसानों मजदूरों के हक की लड़ाई के लिए नहर बचाओ किसान बचाओ करेंगे आंदोलन।

जहानाबाद गांधी मैदान से भाजपा के खिलाफ आर-पाार की लड़ाई होगी, दीपंकर ने किया ऐलान

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

गांधी मैदान में उमड़ा लाल झंडे का सैलाब, मोदी को उखाड़ फेंकने का लिया संकल्प.

अवसरवादी गठबंधनों से नहीं, मजदूर-किसानों व कामकाजी हिस्से की व्यापक एकता के बल पर भाजपा को पीछे धकेलना होगा.

खेग्रामस के राष्ट्रीय सम्मेलन के अवसर पर गांधी मैदान में भाजपा भगाओ-गरीब बचाओ रैली का हुआ आयोजन.स्वामी सहजानंद सरस्वती और डाॅ. अंबेडकर की मूर्ति पर किया गया माल्यार्पण.

न्यूज़ डेक्स – जहानाबाद के ऐतिहासिक गांधी मैदान में दसियों हजार गरीब-गुरबों, मजदूरों का जुटान हुआ. यह ऐतिहासिक जुटान अखिल भारतीय खेत व ग्रामीण मजदूर सभा के 6 ठे राष्ट्रीय सम्मेलन के अवसर पर भाजपा भगाओ-गरीब बचाओ रैली के अवसर पर हुआ. जहानाबाद, अरवल, गया और अन्य इलाकों से हजारों की संख्या में आज दलित-गरीब जहानाबाद पहुंचे थे. रैली के पहले भाकपा- माले महासचिव का. दीपंकर भट्टाचार्य, माले के वरिष्ठ नेता का. स्वदेश भट्टाचार्य, खेग्रामस के महासचिव काॅ. धीरेन्द्र झा ,्र पूर्व सांसद रामेश्वर प्रसाद, भाकपा-माले के राज्य सचिव कुणाल, वरिष्ठ नेता रामजतन शर्मा, खेग्रामस के राज्य सचिव गोपाल रविदास, राज्य अध्यक्ष वीरेन्द्र प्रसाद गुप्ता, जहानाबाद-अरवल के लोकप्रिंय नेता महानंद, श्रीनिवास शर्मा, रामाधार सिंह सहित अन्य केंद्रीय कमिटी व राज्य कमिटी के सदस्यों ने बिहार में संगठित किसान आंदोलन के नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती व बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर को अपनी श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर प्रख्यात अर्थशास्त्री ज्यां ड्रेज भी जहानाबाद पहुंचे हैं.

जहानाबाद में रैली को संबोधित करते हुए माले महासचिव का. दीपंकर भट्टाचार्य ने कहा कि जहानाबाद दलित-गरीबों के ऐतिहासिक व जुझारू आंदोलनों की सरजमीं रही है. यह वह जमीं रही है जहां हमने शाह चांद व का. मंजू देवी तथा वीरेन्द्र विद्रोही जैसे सैंकड़ों साथियों की शहादत दी है. सांप्रदायिक-सामंती ताकतों ने सोचा था कि दमन करके गरीबों की आवाज दबा दी जाएगी लेकिन आज गांधी मैदान में यह दसियों हजार की संख्या कह रही है कि गरीबों का आंदोलन रूकने वाला नहीं है.

उन्होंने कहा कि आज देश के गांव-गांव में नारा लग रहा है – भाजपा भगाओ-गरीब बचाओ क्योंकि ऐसी गरीब विरोधी सरकार आज तक इस देश ने नहीं देखा था. आज साढ़े चार साल में पूरा देश भयावह त्रासदी व पीड़ा से गुजर रहा है. मोदी सरकार देश के लिए हादसा साबित हुई है. इस सरकार ने देश के गरीबों का हक छीनने का काम किया है. मनरेगा जैसे जो कानून बने थे, आज उसे पूरी तरह खत्म किया जा रहा है. आदिवासियों को जमीन से उजाड़ा जा रहा है. खाद्य सुरक्षा कानून का मजाक उड़ गया है. राशन को आधार कार्ड से जोड़ा जा रहा है और इसलिए लोग आज भूख से मर रहे हैं. पूरे देश में 60-70 लोग भूख से मर गए.
उन्होंने कहा कि मोदी सरकार 2022 की बात करती है, आज की बात क्यों नहीं करती? अब कोई मुद्दा नहीं मिल रहा तो एक बार फिर से राम मंदिर का राग अलाप रही है. इस सरकार के पास इंसानियत नाम की कोई चीज नहीं रह गई है.

इसलिए हमने तय किया कि देश के साथ जो यह हादसा हुआ है, उससे देश को उबारना होगा. आज हमारी आजादी, संविधान के साथ जो हादसा हुआ है वह कोई सामान्य बात नहीं है. यह सरकार सबकुछ खत्म करना चाहती है, इसलिए पहले इस सरकार को ही खतम करना होगा. इसके लिए मजदूर-किसानों, आशाकर्मियों, आंगनबाड़ियों, सफाईकर्मी, मेहनतकशों की बड़ी एकता का निर्माण करना होगा.
माले महासचिव ने कहा कि 26 नवंबर को संविधान पारित हुआ था, कागज पर ही सही लोगों को बराबरी व आजादी मिली. आज इसी को लेकर हम लड़ रहे हैं, इसी के बल पर हम भगत सिंह व अंबेडकर के सपनों को साकार करना चाहते हैं. हमने सोचा था कि देश में धर्म व जाति व नफरत को खत्म करके भाईचारा वाला समाज बनेगा लेकिन मोदी आज उस पर ताने-बाने को नष्ट कर देना चाहते हैं.
आज मोदी के पास हमारे सवालों का कोई जबाब नहीं है, इसलिए एक बार फिर राम मंदिर के नाम पर समाज में सांप्रदायिक उन्माद फैलाने की कोशिश हो रही है, इसलिए भाजपा नेेे 25 नवंबर को मंदिर बनाने के लिए अयोध्या चलने का नारा दे रहे हैं.

लेकिन यदि हम सब एक-एक गांव का दायित्व अपने उपर ले लें तो इन सांप्रदायिक शक्तियों का कुछ भी चलने नहीं दिया जाएगा और हम भाजपा को परास्त करने में पूरी तरह सफल होंगे. तब यह नफरत व झूठ की खेती हम नहीं चलने देंगे.

सभा को संबोधित करते हुए किसान महासभा के राष्ट्रीय महासचिव काॅ. राजाराम सिंह ने खेत मजदूरों व किसानों के आंदोलनों की एकता पर बल दिया और कहा कि आगामी 29-30 नवंबर को अपने सवालों पर दिल्ली जा रहे हैं और सरकार को झुकाने का काम करेंगे. सभा को माले विधायक दल के नेता महबूब आलम, विधायक सुदामा प्रसाद, विधायक सत्यदेव राम, ऐपवा की महासचिव मीना तिवारी, राज्य सचिव शशि यादव, जहानाबाद की लोकप्रिय महिला नेता कुंती देवी, महानंद आदि नेताओं ने संबोधित किया. मंच पर बिहार के बाहर के श्रीराम चैधरी, तिरूपति मेंमांगो, आदि भी उपस्थित थे. सभा की अध्यक्षता पूर्व सांसद रामेश्वर प्रसाद व संचालन काॅ. गोपाल रविदास ने किया.

इसके पूर्व गांधी मंे वरिष्ठ नेता प्रताप दास ने झंडोतोलन किया और फिर सभी शहंीदों को श्रद्धांजलि दी गई. निर्माेही जी शहीदत गीत प्रस्तुत किया.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *