Breaking News
October 15, 2018 - अरवल:पुलिस को मिली बड़ी सफलता 490 कार्टून शराब किया बरामद
October 14, 2018 - तेजस्वी यादव इस तारीख से शुरू करेंगे न्याय यात्रा
October 14, 2018 - जदयू नेता नीरज कुमार ने दिया तेजस्वी को ये बड़ी नसीहत
October 14, 2018 - कुशवाहा ने अपनी ही सरकार के खिलाफ दिया बड़ा बयान
October 14, 2018 - ‘आरोपी मुख्यमंत्री दूसरों के साथ कैसे न्याय करेगा?’
October 14, 2018 - इन लोगों के बीच एक-एक लाख रूपये बांटेंगे नीतीश कुमार
October 14, 2018 - बिहार और यूपी के लोगों को भगाने वाले बयान को बीजेपी सांसद ने बताया फेक
October 14, 2018 - सपना चौधरी से लखनऊ में हुई बड़ी गलती, पुलिस ने की कार्रवाई
October 13, 2018 - 23 से 29 अक्टूबर तक चलेगा अभाविप का “मिशन साहसी” अभियान, चकिया में पोस्टर का हुआ विमोचन
October 13, 2018 - जुआ मामले को लेकर तरह तरह की बात सामने आ रही है,डीएसपी ने कहा शराब नहीं जुआ मामले में समिति सदस्य कफिल व अन्य व्यक्ति गए हैं जेल

जहानाबाद में बंद ने ली बच्ची की जान

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

कांग्रेस के अगुवाई में आज भारत बंद है. जिसका समर्थन लगभग 20 पार्टियों ने किया है, लेकिन जिसके लिए यह भारत बंद किया गया है. उसे ही अगर परेशान और तकलीफ दिया जाय तो इस भारत बंद करने का क्या औचित्य रह गया. जी हां ये कोई कहानी नहीं बल्कि एक सच्चाई है जो बिहार से ही सामने आ रही है.

ताजा खबर यह है कि जहानाबाद जिले की है. जहां दो साल की बच्ची ने दम तोड़ दिया है. दरअसल, बच्ची की तबियत खराब थी. बंद के दौरान बच्ची के परिवार वाले उसे सदर अस्पताल ला रहे थे, लेकिन उनके पास कोई साधन नहीं मौजूद नहीं था. बंदी के वजह से एम्बुलेंस तक भी नहीं पहुंच पाई. इसी क्रम में बच्ची ने दम तोड़ दिया. परिवार वालों का आरोप है कि अगर बंद नहीं होता तो बच्ची की जान बच सकती थी.

उक्त बातों की जानकारी मृत बच्ची के पिता उसे गोद में लेकर मीडिया के बीच खुद ही दे रहे थे. उनका कहना था बंद न होता तो मेरी बच्ची जिन्दा होती. वहीं, पूरे विपक्ष का कहना है कि भारत बंद पूरी तरह से सफल है. ऐसे उस दो साल की बच्ची का जवाबदेही कौन है. इसका जवाब
न विपक्ष के पास है और न ही सत्ता पक्ष के पास है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles