Input your search keywords and press Enter.

JDU ने तेजस्वी से इस्तीफे की मांग, कहा- तेजस्वी को नैतिकता पर बोलने का अधिकार नहीं

JDU के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने मेवालाल को लेकर विपक्ष के आरोपों पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि पार्टी का भ्रष्टाचार को लेकर जो स्टैंड है, वह उसी पर कायम है। विपक्ष के पास कोई नैतिकता नहीं है, कभी उन्होंने अपना स्टैंड क्लियर नही किया है। उनको कुछ बोलने का अधिकार ही नहीं है।

आपको बता दें कि जदयू कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान उन्होंने मेवालाल चौधरी को धन्यवाद भी दिया। जदयू नेता ने कहा कि शुचिता को आधार रखकर इस्तीफा दिया गया है। नीतीश कुमार ने ऐसे मुद्दे पर नैतिकता का परिचय दिया है। वशिष्ठ नारायण सिंह ने इस दौरान जीतन राम मांझी , आरएन सिंह और रामाधार सिंह का भी जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि इस सभी को दोषमुक्त होने पर ही सरकार में वापस लिया गया था। तेजस्वी यादव को इस पर बोलने का अधिकार ही नहीं है। उन्होंने कई जगहों पर अपनी नैतिकता का ख्याल नही रखा है, उनको तो अपनी मापदंड के तहत ही इस्तीफा देना चाहिए।