Input your search keywords and press Enter.

जदयू नेता ने 15-20 वर्षों से समाहरणालय में जमे भ्रष्ट लिपिकों के खिलाफ खोला मोर्चा,डीएम से लगाई गुहार….

डीबीएन न्यूज/शेखपुरा(ललन कुमार):- जदयू के चेवाडा प्रखंड अध्यक्ष भगवान कुशवाहा ने डीएम योगेंद्र सिंह से मिलकर 15 से 20 वर्षों से समाहरणालय में जमे भ्रष्ट लिपिकों के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए उसे समाहरणालय से स्थानांतरित करने की गुहार लगाई है.

जदयू नेता ने कहा कि समाहरणालय के कुछ शाखाओं में कुछ लिपिक 10 से 20 वर्षों से आज तक जमे हुए हैं साथ ही मनमानी पूर्ण कार्य करते हुए वे समाहरणालय को भ्रष्टाचार का शिकार बना दिये हैं. श्री कुशवाहा ने कहा कि वर्षों से एक ही स्थान पर जमे रहने वालों में जिला स्थापना शाखा के लिपिक रणधीर कुमार पाठक ,जिला स्थापना शाखा के अवधेश प्रसाद सिंह, जिला राजस्व शाखा के नागेंद्र नारायण सिंह, जिला नजारत शाखा के सुनील कुमार नीरज, जिला आपूर्ति शाखा के कौशल किशोर पांडेय, चेवाड़ा के ग्राम पंचायत एकरामा के पंचायत सेवक उमाकांत पासवान शामिल है.इनके चलते विभाग भ्रष्टाचार का शिकार हो रहा है. ये सभी अपने कार्यालय में अपने पद एक ही स्थान पर 15 से 20 वर्षों से जमे हुए हैं.


Widget not in any sidebars

श्री कुशवाहा ने कहा की जब-जब उनका स्थानांतरण हुआ है तब-तब वे येन केन प्रकारेण अपने पूर्व के स्थान पर कार्यरत हो जाते हैं. इनके कार्यशैली के चलते जिला समाहरणालय पूर्व में भी बदनाम हो चुका है.

Loading...

भगवान कुशवाहा ने कहा कि हर 3 वर्षों पर इनका स्थानांतरण तो हो जाता है लेकिन अपने पूर्व के स्थान पर फिर से प्रतिनियुक्ति करवा लेते हैं जो न्याय संगत नहीं है. आखिर क्या बात है वे स्थानांतरण होने के बाद भी अपने पूर्व के स्थान को छोड़ना नहीं चाहते है. प्रतिनियुक्ति करवा कर फिर से उसी स्थान पर बने रहना पसंद करते हैं.

कुशवाहा ने डीएम को बताया इन सभी लिपिकों के चलते कई बार समाहरणालय को बदनामी झेलनी पड़ी है. डीएम से आग्रह करते हुए कुशवाहा ने कहा कि इन लिपिकों का स्थानांतरण और पदस्थापन पंजी का अवलोकन कर लिया जाए कि ये सभी कितने वर्षों से समाहरणालय में ही बने जमे हुए हैं.आखिर इन लिपिकों को प्रखंडों में और प्रखंडों के लिपिकों को समाहरणालय में अदला- बदली क्यों नहीं कर दिया जाता है.

श्री कुशवाहा ने कहा कि 01/9/15 को जदयू के जिलाध्यक्ष डॉ अर्जुन प्रसाद ने भी वर्षों से जमे इन लिपिकों को स्थानांतरण के लिए पूर्व के डीएम को आवेदन देकर कार्यवाही करने को कहा था लेकिन पूर्व के डीएम को ये लिपिक अपने झांसे में लेकर गुमराह कर दिया जिससे उन्हें जैसे को तैसे छोड़ दिया गया.

श्री भगवान कुशवाहा ने कहा किस नियम के तहत इन सरकारी कर्मियों एक ही स्थान पर वर्षों जमे रहने के लिए छोड़ दिया जाता है. उन्होंने कहा कि इस पर भी कार्रवाई नहीं हुई तो वे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और मुख्य सचिव से व्यक्तिगत रूप से मिलकर इन सारी बातों को रखा जाएगा.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.