Input your search keywords and press Enter.

तेजस्वी के धरना पर JDU का हमला, कहा- जेल के सामने समागम लगाते तो ज्यादा बेहतर होता

किसान आंदोलन के समर्थन में राजद के धरना की जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है. दिल्ली के आसपास आंदोलित किसानों के समर्थन में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आज बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान में धरना देनेवाले थे. गांधी मैदान में प्रवेश की अनुमति नहीं देने पर राजद के नेता और कार्यकर्ता गेट नंबर -4 के आगे ही दरी बिछाकर धरना पर बैठ गए. राजद नेता शक्ति यादव ने कहा कि नया कृषि कानून किसानों को बेवकूफ बनाने वाला और ठगने वाला है. नए कानून के कारण किसान को जमीन को गिरवी रखना पड़ेगा. एमएसटी बहाल करने की मांग की.

वहीं तेजस्वी यादव के धरने को लेकर पूर्व मंत्री और जदयू एमएलसी नीरज कुमार ने निशाना साधा है. नीरज कुमार ने राजद सुप्रिमो लालू प्रसाद यादव को लेकर तेजस्वी पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर लिखा है कि ‘जिसके पिता भ्रष्टाचार में सजायाफ्ता हों खुद भ्रष्टाचार का आरोपी हो फिर इनका आइकॉन राष्ट्रपति महात्मा गाँधी तो हो नहीं सकते इन्हें तो चाहिए जेल के सामने समागम लगाते तो ज्यादा बेहतर होता.’

इसके बाद नीरज कुमार ने लिखा कि ‘इसके अनशन बहाना है, अब किसानों का हक़ खाना है गांधी मूर्ति की आड़ में, बहुत कुछ छुपाना है छुपाना है कि किसानों को मजदूर किसने बनाया, छुपाना है कि चारा किसने खाया, छुपाना है उस चेहरे को जो खुद छुप बैठा है, सलाखों के पीछे लेटा है छुपाना है उस किरदार को, जो नकली नेता है, दागदार बेटा है ‘

नीरज कुमार ने कहा कि जो लोग गांधी जी के सामने आज धरना दे रहे हैं उनके होटवार जेल, बेऊर जेल और तीहाड़ जेल के आगे धरना देना चाहिए. ताकि जनता को लगे वो अपनी गलती को मान रहे हैं.