Input your search keywords and press Enter.

जहानाबाद : बैंक ऑफ बड़ौदा के बैंक मैनेजर फर्जीवाड़ा को तैयार नहीं हुए तो उप प्रबन्धक ने सुपारी देकर कराई थी हत्या

डीबीएन न्यूज/जहानाबाद–अरवल जिला स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के बैंक मैनेजर आलोक चंद्रा की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है.पुलिस अधीक्षक मनीष कुमार ने रविवार को मैनेजर का खुलासा करते हुये बताया कि घटना में शामिल रहे बैंक ऑफ बड़ौदा के उप प्रबंधक राजेश कुमार सहित छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है.मैनेजर की हत्या में प्रयुक्त देसी कट्टा और बाइक भी पुलिस ने बरामद कर ली है.

बीते 21 मई को परस बिगहा थाना क्षेत्र के निहालपुर छिलका के पास दिनदहाड़े हुई हत्या के बारे में एसपी ने बताया कि बैंक मैनेजर आलोक चंद्रा जब फर्जीवाड़ा काम करने को तैयार नहीं हुये तो उप प्रबंधक ने अरवल शहर स्थित ब्रजेश ऑटोमोबाइल के संचालक परस बिगहा थाना क्षेत्र के जेठवारा गांव निवासी बृजेश कुमार के साथ मिलकर मैनेजर को ठिकाने लगाने का प्लान बना डाला.

Loading...

Widget not in any sidebars

बैंक मैनेजर की हत्या के लिए तीन शूटरों को 30-30 हजार रुपये सुपारी के रूप में दी गई थी.बृजेश ने वर्ष 2016 में बैंक ऑफ बड़ौदा से डेढ करोड़ रुपए का लौन लिया था.बैलेंस शीट में गड़बड़ी की बात सामने आने पर बैंक के रीजनल कार्यालय ने रिव्यू पेंडिंग में डाल दिया था.बृजेश कुमार आलोक चंद्रा से पूर्व में दाखिल बैलेंस शीट को ही स्वीकृत कराने का दबाव बना रहे थे.

एसपी ने बताया कि लोन देने के एवज में उप प्रबंधक ने बृजेश से बतौर रिश्वत 5 लाख रूपय लिये थे.उप प्रबंधक ने ही उसे मैनेजर को रास्ते से हटाने के लिए उकसाने का काम किया.इसके बाद दोनों ने मिलकर अरवल थाने के बैर बिगहा निवासी राजकिशोर, बाला बिगहा निवासी विकास और रामपुर चौराहा थाने के शर्मा गांव निवासी पिंटू को हत्या की सुपारी दी.

अपराधियों ने नवादा से बाइक से अरवल लौट रहे बैंक मैनेजर की निहालपुर छिलका में गोलीमार हत्या कर दी और वे बाइक से भाग निकले थे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.