Input your search keywords and press Enter.

जोकीहाट प्रखंड मुख्यालय में पति पत्नी के नौकरी के लिए परेशान

अररिया,अल्लामा ग़ज़ाली

सोमवार को जोकीहाट प्रखंड मुख्यालय में जाति निवासी आय व अन्य प्रमाण पत्रों बनाने को लेकर अफरा-तफरी का माहौल देखने को मिला रहा है.दरअसल जोकीहाट प्रखंड मुख्यालय में सोमवार को नव युवक की मुलाकात एक संवाददाता से हुई.नवयुवक की जुबानी सुनकर हैरतअंगैज हो जाएंगे,जुबानी यूं है कि भाई शादी इतना जल्दी करने का मतलब नौकरी लेना है.कहा कि सबसे अधिक अंक मेरी पत्नी का है इसलिए भी नौकरी तय है.

Loading...

पत्नी-बहन के नौकरी के लिए दिन रात आरटीपीएस प्रखंड मुख्यालय का चक्कर काट रहे लोगों का मानें तो हमलोग कार्यालय में जमा तो नहीं कर पाएंगे,चूंकि भीड़ बहुत ज्यादा है.तत्काल प्रमाण पत्रों को बनाने हेतु बिचौलियों के गिरफ्त लोगों से खुले तौर पर सर्टिफिकेट बनाने हेतु रूपए पैसे का कारोबार खूब कर रहे हैं.बता दें कि पिछले 8 दिनों से प्रखंड मुख्यालय में लगी भीड़ यह बयां कर रही थी कि वार्ड सदस्य के चक्कर में फंसे लोग दो तीन हज़ार रूपये खर्च तो कर ही दिये हैं बावजूद लोगों की संख्या कम नहीं हो पा रही है.बहू पत्नी व बहन को आंगनबाड़ी केंद्र में पदास्थापित करने को लेकर मौलवी/इंटर पास महिलाएं भी खुल कर दावेदारी कर रही है.

बहाली में सेविका व सहायिका का पद प्राप्त करने हेतु पति से लेकर ससुर आरटीपीएस आॅफिस व अंचल अधिकारी कार्यालय का चक्कर काटते थक नहीं रहे हैं.इतना ही नहीं पंचायत के सक्रिय बिचौलियों की गिरोह प्रखंड मुख्यालय के इर्द गिर्द घूमते रहते हैं और अशिक्षित व्यक्ति से फॉर्म भरने के नाम पर 100-200₹ ले कर अपना रोटी सेक रहे हैं.जबकि प्रखंड मुख्यालय कार्यालय में अंचलाधिकारी की संख्या महज चार होना अपने आप में एक सवाल उत्पन्न कर रही है.हल्का कर्मचारी की बोली से ऐसा प्रतीत होता है के बिना पैसा के हस्ताक्षर होगा ही नहीं और दूसरी टीम जो हल्का कर्मचारी और आरटीपीएस कर्मियों से संपर्क कर आम जनों से प्रेम से बड़े पैमाने पर उगाही कर रहे हैं, आखिर इसके जिम्मेवार कौन है.एक बड़ी लंबी भीड़ में 28 पंचायतों में मात्र 4 कर्मचारी को देखना समझ से पड़े है.जबकि भीड़ अनियंत्रित देखकर अनुमंडल पदाधिकारी को आवेदन देकर सुरक्षाकर्मियों की मांग किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.