Input your search keywords and press Enter.

लखीसराय : न्याय के साथ विकास से वंचित है नक्सल प्रभावित चानन

डीबीएन न्यूज/लखीसराय(एस0 के0 गांधी)- नक्सल प्रभावित चानन प्रखंड के आदिवासी और महादलित परिवारों के बीच इस भीषण गर्मी में मुख्यमंत्री के सात निश्चय योजना के तहत शुद्ध पेयजल के लिए नल जल योजना मुहैया नहीं करवाया गया है .

इसके अलावा एसटी-एससी के बच्चों को पढ़ने के लिए प्रखंड स्तरीय कस्तूरबा विद्यालय भी नहीं है.एसटी-एससी के गरीब बच्चों तक आईसीडीएस के तहत पोषाहार वितरण बिल्कुल सपना प्रतीत हो रहा है.


Widget not in any sidebars

उपरोक्त बातें चानन विकास संघर्ष समिति प्रमुख सह प्रखंड प्रमुख प्रियंका कुमारी के पति नृपेंद्र कुमार यादव ने संवाददाता से अनौपचारिक मुलाकात के दौरान कही .

उन्होंने कहा कि चानन का प्रखंड बनने के बावजूद बाल विकास परियोजना पदाधिकारी का पद सृजन एवं प्रखंड भवन का निर्माण नहीं कराया गया है. कृषि आधारित चानन में संभावित सुखाड के बावजूद नहर से पटवन एवं कृषि बोरिंग का बंदोबस्त नदारत है . इसके चलते सरकार की विभिन्न विकास योजनाओं से नक्सल प्रभावित चानन वासी वंचित हैं.

Loading...

नक्सल प्रभावित इस प्रखंड में अस्पताल की भी कोई सुविधा उपलब्ध नहीं है. श्री यादव ने बताया कि प्रखंड में प्रधानमंत्री आवास योजना की सूची के साथ छेड़छाड़ कर मोटी रकम उगाही कर मालदार लोगों को इंदिरा आवास का लाभ एवं फर्जी ओडीएफ शौचालय की प्रोत्साहन राशि बांटे जा रहे हैं . वाजिव लाभार्थियों का नाम जोडना तो टेढी खीर एवं लाईफ लाॅट्री बनी है.

नक्सल प्रभावित आदिवासियों के बीच शुद्ध पेयजल मुहैया करवाने के लिए मुख्यमंत्री सात निश्चय के तहत हर घर नल जल योजना का क्रियान्वयन नहीं किया गया है.इधर वर्षा नहीं होने के कारण चानन प्रखंड के हजारों बीघा जमीन पर धान का बिचड़ा मर रहा है . बावजूद राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन की ओर से इस दिशा में कोई सकारात्मक पहल नहीं किया जा रहा है.

अंततः श्री यादव ने खुलेआम राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन पर नक्सल प्रभावित चानन इलाके की समुचित विकास नहीं किए जाने का भी आरोप लगाया.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.