Input your search keywords and press Enter.

लखीसराय : इंदिरा आवास की सरकारी राशि बैंक से ही हड़प्प लिया, योजना में भारी पैमाने पर गड़बड़ी व घोटाला

डीबीएन न्यूज/लखीसराय(एस0 के0 गांधी)-मुख्य सचिव बिहार के पत्रांक – 323 /18 एवं जिला पदाधिकारी लखीसराय का ज्ञापांक- 211/वि0/18 के आलोक में प्रभारी जिला जनसंपर्क पदाधिकारी -सह -डीआरडीए डायरेक्टर -सह हलसी प्रखंड के वरीय प्रभारी पदाधिकारी मो0 शमीम अख्तर ने बीते दिनों जिले केअवस्थित गेरुआ पुरसंडा पंचायत के बहरांवा गांव के वार्ड संख्या 5 का स्थल निरीक्षण कर इंदिरा आवास योजना (प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण ) में भारी पैमाने पर गड़बड़ी व घोटाला पाई .इस पर चिंता प्रकट करते हुए घोटाला करने वाले कर्मियों व बिचौलिया के खिलाफ जिलापदाधिकारी से उन्होंने एफआईआर दर्ज करवाने की अनुशंसा की.

.

उक्त बातें डीआरडीए डायरेक्टर शमीम अख्तर ने हलसी प्रखंड के गेरुआ कुरसंडा पंचायत के वहरामा गांव के वार्ड नंबर 5 अवस्थित महादलित टोला में इंदिरा आवास लाभार्थियों के बीच जांच पड़ताल के दौरान कही.

Loading...

Widget not in any sidebars

डीआरडीए डायरेक्टर मो0 शमीम अख्तर ने कहा कि हलसी प्रखंड के गेरुआ पुरसंडा पंचायत के बहरामा गांव अवस्थित वार्ड संख्या 5 में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत मिलने वाली इंदिरा आवास योजना में आवास सहायक, पर्यवेक्षक, विकास मित्र बैंक कैशियर व अन्य बिचौलियों की मदद से 34 महादलित लाभार्थियों को मिली इन्दिरा आवास में भारी लूट मचाए जाने की वृहद् रिपोर्टसमर्पित कर संबंधित प्रशासन को भी अवगत कराने पर बल दिया .

जबकि मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना का कार्यक्रम इस पंचायत में लंबित है. योजना स्थल निरीक्षण के दौरान जांच पदाधिकारी ने पाया कि मनरेगा के तहत संचालित योजनाओं का कुछ हद तक क्रियान्वयन कराया गया है.बावजूद अन्य कार्यक्रमों का कोई लेखा-जोखा नहीं है.

निदेशक प्रशासन एवं नियोजन ने इंदिरा आवास योजना में आवास सहायक, पर्यवेक्षक, विकास मित्र बैंक कैशियर व अन्य बिचौलियों की मदद से 34 महादलित लाभार्थियों को मिली इन्दिरा आवास की सरकारी राशि बैंक से ही हडप लिए जाने की फरियाद लाभार्थियों से सुनी एवं प्रतिवेदन कलमबद्ध कर ली.

उन्होंने इस आशय में इस महालूट मचाए जाने की वृहद् रिपोर्ट से संबंधित प्रशासन को भी अवगत कराया उन्होंने अपने प्रतिवेदन में हलसी के बीडीओ पर भी योजनाओं का अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण करने में अनदेखी करने की बातें कही.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.