Input your search keywords and press Enter.

लालबकेया नदी का जलस्तर एकाएक बढ़ा, चंपारण का सीतामढ़ी से सड़क संपर्क भंग

डीबीएन न्यूज/मोतिहारी {मधुरेश}– पूर्वी चंपारण जिले के उत्तरी-पूर्वी छोर पर अवस्थित सिकरहना अनुमंडल क्षेत्र से होकर गुजरने वाली लालबकेया नदी के जलस्तर में कल से एकाएक बढ़ रहा है. अचानक जलस्तर बढ़ने से फुलवरियाघाट पर बना डायवर्सन नदी की धार में विलीन हो गया. लालबकेया नदी पर बने इस डायवर्सन के बह जाने से पूर्वी चंपारण के जिला मुख्यालय मोतिहारी का पड़ोसी जिला सीतामढ़ी से सड़क संपर्क भंग हो गया.

Loading...

सड़क संपर्क भंग होने से नदी पार करने के लिए जरुरतमंद लोगों को नाव का सहारा लेना पड़ रहा है. इस नदी में चल रही नाव पर क्षमता से अधिक लोग सवार होकर नदी पार कर रहे हैं. ऐसी स्थिति बनी रही तो यहां कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. लालबकेया नदी के फुलवरियाघाट पर बना सड़क पुल एक पुल बारह वर्ष पहले बाढ़ के पानी में बह गया था. इस घाट पर पुल निर्माण का कार्य बीते सात वर्ष से जारी है, लेकिन जमीन उपलब्ध नहीं दिए होने के कारण निर्माणाधीन पुल का एप्रोच सड़क का निर्माण कार्य ठप्प पड़ा है.

उधर, जिला प्रशासन ने लालबकेया नदी के फुलवरिया घाट पर नावों के परिचालन पर पूर्णतः रोक लगा दिया है. इस संदर्भ में सिकरहना के अनुमंडल पदाधिकारी ने अपने पत्रांक 332/4.6.2018 के आलोक में एक आदेश जारी किया है. एसडीओ ने नावों के परिचालन पर लगाये गये रोक के आदेश के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए ढाका के प्रखंड कृषि पदाधिकारी लक्ष्मीकांत सिंह को बतौर दंडाधिकारी फुलवरिया घाट पर तैनात किया है. एसडीओ ने ढाका के थानाध्यक्ष को दंडाधिकारी के साथ एक पुलिस पदाधिकारी एवं लाठी बल तैनात करने का निर्देश जारी किया है.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.