रालोसपा ने दिए बड़े संकेत

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

एनडीए के दो दलों जदयू और बीजेपी के बीच सीटों की बंटवारा की बात भले ही बन गई हो लेकिन रालोसपा का इसपर बात बनते नज़र नहीं आ रही है. एक ओर एनडीए के जदयू-बीजेपी ने 50-50 फॉर्मूला पर सहमती बना ऐलान किया, तो दूसरी ओर एनडीए के सहयोगी दल रालोसपा के नेताओं के तरह तरह के बयान आ रहे है. अब इसी कड़ी में रालोसपा के कद्दावर नेता ने आज बड़ा संकेत दिए है.

जदयू-बीजेपी के 50-50 फॉर्मूला पर बोलते हुए रालोसपा नेता नागमणि ने साफ़ कहा कि आने वाले दिनों में तेजस्वी कुशवाहा की मुलाकात नया रंग दिखायेगी. साथ ही नागमणि ने आगे दावे के साथ कहा कि एनडीए को यह निर्णय बहुत महंगा पड़ेगा.

इतना ही नहीं बीजेपी को नसीहत देते हुए कहा कि बिहार में 1.5% वोट नीतीश को है, और वे (जदयू) 16-17 सीट का दावा कर रहे हैं. रालोसपा नेता ने बीजेपी को सलाह देते हुए साफ़ कहा कि जदयू-बीजेपी के बीच सीटों की बराबर हिस्सेदारी का समझौता करने से पहले बीजेपी को नीतीश की जनाधार को समझे की जरूरत है.

दरअसल, कल यानि शुक्रवार को सीएम नीतीश और बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह ने साँझा प्रेस वार्ता कर सीट बंटवारे का एलान कर रहे थे तो दूसरी ओर उसी वक़्त अरवल के सर्किट हाउस में एनडीए के घटक दल रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा और पूर्व उपमुख्यमंत्री व राजद नेता तेजस्वी यादव की मुलाकात से राजनीतिक हलचल तेज हो गयी. रालोसपा नेता में माधव आनंद ने सीट बंटवारे पर कहा था की हमारी पार्टी रालोसपा की जनाधार पहले से बढ़ गया. ऐसे में हमे पूर्व के अपेक्षा ज्यादा सीटें चाहिए.

हालांकि, इसपर बीजेपी की कड़ी नज़र है. आज पार्टी सूत्रों का दावा है कि अमित शाह ने उपेंद्र कुशवाहा को मुलाकात के लिए दिल्ली बुलाया है. तेजस्वी और उपेंद्र कुशवाहा कुशवाहा की मुलाकात के बाद एनडीए चौकन्नाने है. बीजेपी ने इसे गंभीरता से लिया है.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए
Tagged with:

About author

Related Articles