Input your search keywords and press Enter.

लोजपा सांसद वीणा देवी के अल्टीमेटम से लखीसराय के डीएम ने लिया यह निर्णय

file photo

डीबीएन न्यूज /लखीसराय(एस0 के0 गांधी)-मुंगेर लोजपा सांसद वीणा देवी की अध्यक्षता में आगामी 27 जून 2018 को समाहरणालय में केन्द्र प्रायोजित योजनाओं की जिला स्तरीय अनुश्रवण एवं निगरानी (दिशा) समिति की बैठक आहूत की जाएगी.

इसकी जानकारी लखीसराय के जिलाधिकारी शोभेंद्र कुमार चौधरी ने ज्ञापांक – 657/डीआरडीए/18 से जारी कर दी . डीएम के अनुसार ,बैठक की सफलता के लिए मंत्री विजय कुमार सिन्हा , विधायक प्रहलाद यादव, जिप अध्यक्ष रामाशंकर शर्मा , सभी प्रखंड प्रमुखों सहित संबंधित लोगों को पत्र भेजकर इसमें भाग लेने की सूचना दी गई है .


Widget not in any sidebars

आपको बताते चलें कि इस दौरान जिले की ग्रामीण एवं शहरी विकास से संबंधित राहत,विकास व कल्याण से संबंधित संचालित केन्द्र प्रायोजित योजनाओं में से सड़क निर्माण, मनरेगा,जीविका,पीएमजीएसवाई,पीएमएएवाई,पीएम एवाई (जी),एनएसएपी,स्वच्छ भारत मिशन,राष्ट्रीय पेयजल कार्यक्रम,पीएमकेएसवाई,वाटर शेड प्रबंधन,जलापूर्ति मिनी प्लांट,एनआरडीडब्लूपी, कृषि,जलछाजन, खाद्य आपूर्ति, एमडीएम /एस एस ए(शिक्षा),एन एल आर एम पी , स्वास्थ्य ( एन एच एम),आईसीडीएस,डीडीयूजीजेवाई
(विद्युत),पीएम एफबीवाई,उज्जवला,डिजिटल इंडिया एवं आधार भूत संरचना – पथ सहित कुल 28 सेन्ट्र्ल स्कीम की विभागवार अनुपालन एवं क्रियान्वयन की समीक्षा की जाएगी.

Loading...

इस बीच बाद में सांसद वीणा देवी की ओर से संबंधित योजनाओं की स्थलीय भौतिक निरीक्षण भी किये जाऐंगे . स्मरणीय हो कि जिला प्रशासन की ओर से गत बैठक में केन्द्र प्रायोजित योजनाओं की अनुपालन के प्रति बरती गई प्रशासनिक उदासीनता को लेकर लोजपा सासद ने विभिन्न विभागों की प्रगति प्रतिवेदन का संतोषजनक नहीं रहने पर कड़ी नाराजगी प्रकट की थी .

उन्होंने जांच और कागजी अनुपालन रिपोर्ट नहीं बल्कि कार्य में गड़बड़ी करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों एवं बिचौलिया के विरुद्ध कठोर कार्रवाई किए जाने की हिदायतें दीं थी .

सांसद ने कहा था जांच के नाम पर विभिन्न मामले को वर्षों से लटका कर रखा जाता है. इस बीच जिलाधिकारी शोभेंद्र कुमार चौधरी ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य प्रायोजित योजनाओं का अक्षरश: अनुपालन करवाने के प्रति जिला प्रशासन कटिबद्ध है . डीएम ने योजनाओं की सफल क्रियान्वयन व अनुपालन के लिए स्वयं स्थलीय भौतिक सत्यापन करवाये जाने की भी बातें कहीं.

डीएम ने कहा कि अनुपालन नहीं करने वाले एवं बिना कारण बैठक में भाग नहीं लेने वाले अधिकारियों के विरुद्ध कठोर दंडात्मक कार्रवाई किए जाऐंगे .विकास कार्यों की गुणवत्ता एवं शत-प्रतिशत क्रियान्वयन से कोई समझौता नहीं करेंगे. आवश्यकता अनुसार वे जिले में पंचायत वार कैम्प करके योजनाओं का निरीक्षण भी करेंगे. डीएम ने कहा कि विकास कार्यों में गड़बड़ी करने वाले दोषियों के खिलाफ सख्त पर कार्रवाईयां किए जायेंगे.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.