Input your search keywords and press Enter.

मांझी को नहीं पसंद आया नीतीश का सभ्यता द्वार, कहा अब एक ताज महल की कमी है

jitam ram manjhi pc


jitam ram manjhi pc

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने प्रेसवार्ता में कहा कि सीएम नीतीश अपने इतिहास व सभ्यता के प्रति सम्मान रखते है स्कूलों में शिक्षक नहीं किताब नहीं और सभ्यता द्वार बना रहे है. गंगा की पवित्र नदी फल्गु जहां 10 से 20 लाख श्रद्धालु आते है गया के नजदीक नदी के दोनों किनारे सड़क बनाकर सोन नदी का पानी लेकर फल्गु नदी में गिरा दे इससे 7-8 जिलों में पानी की किल्लत दूर हो सकता है इस सांस्कृतिक विरासत को कैसे भुला गए नीतीश कुमार.

Loading...

Widget not in any sidebars

इससे बाहर के लोग नाम लेंगे लेकिन इस समस्या का समाधान नहीं करेंगे तो 10-12 जिला के लोग कभी माफ नहीं करेंगे अब नीतीश कुमार एक काम ये भी कर दे की बिहार में एक ताजमहल फल्गु नदी के पास बीथो बांध में बनवा दें इससे सैलानियों को भी सुविधा होगी पानी का लेयर कम होता जा रहा है.

पीने को शुद्ध पानी नहीं रहने को झोपड़ी नहीं किसी को है भी तो बिना बैकल्पिक व्यबस्था के किये जबरदस्ती झोपड़ी हटाया जा रहा है और सभ्यता द्वार बना रहे है तो बिहार में भी एक नालंदा या गया में ताजमहल बना दें. कर्नाटक शपथग्रहण समारोह में विपक्षी दलों के सिरकत करने पर पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा कि शपथ ग्रहण में विपक्षी एकता मज़बूत होंगे तो 2019 में भाजपा की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी.

जीतन मांझी ने कहा कि हम तेजस्वी यादव को अपने से बड़ा नेता मान कर मुख्यमंत्री का दावेदार बताया, जबकि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर राहुल गांधी के नाम पर कहा कि महागठबंधन के नेता बैठ कर तय करेंगे कि प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार कौन होगा.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.