Input your search keywords and press Enter.

नीतीश की नयी कैबिनेट में मिथिलांचल का दबदबा, चार बने मंत्री

CM नीतीश के नये मंत्रिमंडल में राज्य के हर क्षेत्र को प्रतिनिधित्व मिला है लेकिन मिथिलांचल को सबसे अधिक जगह मिली है। मुख्यमंत्री व दो उप मुख्यमंत्री को अलग करके देखा जाय तो शपथ लेने वाले दस मंत्रियों में चार मिथिलांचल के है। सबसे अधिक हैरानी लोगों को इस बात पर हुई कि इस बार मगध प्रमंडल का प्रतिनिधित्व केवल हम के संतोष सुमन ने किया।

वीआईपी के मुकेश सहनी कोसी के है। जदयू कोटे के जिन पांच मंत्रियों ने शपथ ली है उनमें दो मिथिलांचल के है। विजय कुमार चौधरी समस्तीपुर जिले के सरायरंजन विधानसभा क्षेत्र से आते है। यह भी मिथिलांचल का हिस्सा है। जबकि मधुबनी जिले के फूलपरास विधानसभा क्षेत्र से जीत कर मंत्री बनी शीला कुमारी भी मिथिलांचल के कोटे में है।

भाजपा कोटे से मंत्री बने रामप्रीत पासवान मधुबनी जिले के राजनगर विधानसभा क्षेत्र के विधायक है। जीवेश मिश्रा दरभंगा जिले के जाले विधानसभा क्षेत्र से विधायक है। मगध, सीमांचल, चंपारण व मुंगेर, शाहाबाद व तिरहुत से एक-एक इलाके के हिसाब से अगर देखें तो मगध से हम के संतोष सुमन, सीमांचल से तारकिशोर प्रसाद, चंपारण से रेणु देवी, शाहाबाद से अमरेंद्र प्रताप सिंह व तिरहुत से रामसूरत राय को मंत्री बनाया गया है। कोसी से केवल बिजेंद्र यादव है। वैसे मुंबई में रहने वाले मुकेश सहनी का घर भी कोसी इलाके में ही है। मेवालाल का इलाका मुंगेर का है। मंगल पांडेय गोपालगंज के रहने वाले है।