Breaking News
December 12, 2018 - लालू निकलना चाहते हैं बाहर
December 12, 2018 - कृषि विभाग में निकली बंपर बहाली
December 12, 2018 - महागठबंधन में यह फार्मूला आया सामने
December 12, 2018 - तेज प्रताप भी जीत से उत्साहित
December 12, 2018 - हार के अगले दिन बिहार में योगी
December 12, 2018 - बिहार से बाहर जदयू के सभी प्रयासों का हुआ बुरा हाल
December 12, 2018 - महागठबंधन में बड़े भाई और छोटे भाई पर बिगड़ी बात
December 12, 2018 - लोस के शीत सत्र में सुपौल की कांग्रेस सांसद ने इन मुद्दों को ले दी स्थगन प्रस्ताव नोटिस
December 12, 2018 - वसुंधरा राजे सरकार के 30 में से 20 मंत्री चुनाव हार गए, बेटे को टिकट दिलवाया वो भी हार गये
December 11, 2018 - मुख्यमंत्री ने समाजवादी नेता स्व0 राम अवधेष चैधरी के श्राद्धकर्म में भाग लिया

मुजफ्फरपुर कांड : अब जब्त होगी ब्रजेश ठाकुर की एनजीओ की संपत्ति

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए


मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म मामले में सीजेएम कोर्ट बड़ा फैसला लिया है. सीजीएम कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की पत्नी के नाम की संपत्ति और एनजीओ की संपत्ति जब्त करने का आदेश दिया है. इस मामले में कोर्ट में लगातार सुनवाई चल रही है. वहीं, दूसरी तरफ सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने भी इस मामले में बिहार के मुख्य सचिव और डीजीपी को तलब भी किया है.

कोर्ट के आदेश के बाद बालिका गृह का संचालन करने वाली सेवा संकल्प एवं विकास समिति की संपत्ति जब्त होगी. डीएम मोहम्मद सोहैल ने संस्था की संपत्ति को जब्त करने का आदेश दे दिया है. गौरतलब है कि सेवा संकल्प समिति के पदाधिकारी व सदस्यों की संपत्ति का ब्योरा जुटाने के बाद प्रशासन की ओर से नोटिस पहले से दी गयी थी.

इनसे संपत्ति के बारे में पक्ष रखने को कहा गया था, जिसकी सुनवाई डीएम कोर्ट में 10 नवंबर को हुई. अधिवक्ता के माध्यम से ब्रजेश ठाकुर की पत्नी प्रो आशा व अन्य छह सदस्यों ने अपना पक्ष रखा, जिसमें संस्था की संपत्ति से पल्ला झाड़ लिया. कहा कि इस संपत्ति से उनका कोई लेना-देना नहीं है.

इसके बाद प्रशासन की ओर से संपत्ति जब्ती की कार्रवाई शुरू की गयी है. डीएम कोर्ट से जारी आदेश के अनुसार जिन सदस्यों की संस्था के नाम से संपत्ति है, उसे सरकार के अधीन में कर लिया जायेगा. प्रशासन की ओर से जारी नोटिस के अनुसार ब्रजेश ठाकुर की पत्नी प्रो. डॉ आशा के नाम से सबसे अधिक प्रोपर्टी हरिशंकर मनियारी में है. इसके अलावा अन्य चल व अचल संपत्तियां जब्त होगी.

बता दें कि शेल्टर होम में बच्चियों से दुष्कर्म का खुलासा होने के बाद से सीबीआई तेजी से इसकी जांच कर रही है. पटना हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में भी इसकी लगातार सुनवाई चल रही है. मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद से भागलपुर जेल से पंजाब के पटियाला जेल में शिफ्ट कर दिया गया है. जिससे जांच में आरोपी की तरफ से कोई बाधा उतपन्न ना की जाए.

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Related Articles