Input your search keywords and press Enter.

मुजफ्फरपुर कांड : जनवरी से अब तक मंत्री मंजू वर्मा के पति और ब्रजेश ठाकुर ने की 17 बार फोन पर बात

minister manju verma husband

मुजफ्फरपुर बालिका गृह दुष्कर्म कांड के मास्टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर के कॉल डिटेल से बड़ा खुलासा हुआ है. कॉल डिटेल से यह पता चला है कि बालिका गृह में रहने वाली 34 नाबालिग बच्चियों के यौन उत्पीडऩ के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के साथ मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा लगातार संपर्क में रहे हैं. मंत्री मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा की और ब्रजेश के बीच जनवरी से अब तक 17 बार फोन पर बातचीत हुई थी. इस पर मंत्री ने सफाई दी कि राजनीतिक जीवन में रहने के कारण कोई भी उन्‍हें फोन कर सकता है. मंत्री मंजू वर्मा ने कहा कि मेरी जगह मेरे पति भी फोन रिसीव करते थे. वैसे भी वे (पति) राजनीतिक वर्कर हैं किसी का फोन आने पर उससे बात करना कोई अपराध नहीं है. इससे पहले ब्रजेश के चरित्र के बारे में ज्ञात नहीं था. वे और उनके पति किसी भी जांच के लिए तैयार हैं.

ब्रजेश ठाकुर के फोन की कॉल डिटेल से यह जानकारी सामने आने से यह कयास लगाया जा रहा है कि ऐसे में मामला और गरमा सकता है. विदित हो कि मंजू वर्मा के पति चन्द्रशेखर वर्मा के बालिका गृह में कई बार आने जाने का पहले ही खुलासा हो चुका है. लेकिन कॉल डिटेल का बड़ा खुलासा तब हुआ जब इस मामले की जांच में लगी सीबीआई सीडीआर (कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड) की पड़ताल में जुटी फ़िलहाल अभी पड़ताल जारी है.

Loading...

बता दें कि दो अधिकारियों के बातचीत के ऑडियो में भी मंत्री के पति के शेल्टर होम आने का खुलासा हुआ था. पूरे मामले की जांच में जुटी सीबीआई की टीम सीडीआर के खुलासे से संबंधित कोई भी जानकारी देने से फिलहाल इंकार कर रही है. मामले का मास्टरमाइंड ब्रजेश ठाकुर भले ही जेल के अंदर हो लेकिन अभी तक उसके मोबाइल फोन का कोई सुराग नहीं मिल सका है. अब तक जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक मामले की जांच कर रही सीबीआई तीन मोबाइल फोन के सीडीआर (कॉल डिटेल्स रिकॉर्ड ) खंगाल रही है.

सूत्रों के हवाले से पता चला है कि सीबीआइ की एक टीम ने विगत सोमवार को मुजफ्फरपुर में ही ब्रजेश ठाकुर के ड्राइवर राजू से करीब एक घंटे तक पूछताछ की राजू ने भी स्वीकार किया है कि मंजू वर्मा के पति का ब्रजेश ठाकुर से लगातार मिलना-जुलना होता था. राजू से पूछताछ में सीबीआइ को यह भी पता चला है कि विगत 2 जून को अपनी गिरफ्तारी के बाद ब्रजेश ठाकुर ने अपना मोबाइल फोन अपने किसी विश्वासपात्र को दे दिया था.

ज्ञात हो कि इस खुलासे के बाद मुजफ्फरपुर मामले को लेकर समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा पर इस्तीफे की तलवार लटक रही है. विदित हो कि सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भले ही कहा था कि किसी को अकारण जिम्मेदार ठहराकर इस्तीफा कैसे लिया जा सकता है. लेकिन, इसके साथ ही उन्होंने ये भी कहा था कि अगर कुछ भी साक्ष्य सामने आता है तो वो इस्तीफा लेने में देर नहीं करेंगे.

DIGI Singing Star Audition के लिए क्लिक करें