नालंदा :मुख्यमंत्री ने दो दिवसीय पावापुरी महोत्सव का किया उद्घाटन

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

डीबीएन न्यूज (के कुमार श्रवन) :–भगवान महावीर के जियो और जीने दो इस संदेश में ही सारी बातें समाहित है । आज हाथ में जब ताकत आती है तो कुछ लोग क्षणभर के सुख के लिए लोगों को सता का धन जमा करने में लग जाते हैं। लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि आज धरती से मनुष्य के लिए नहीं बल्कि हर जीव जंतु के लिए है।

यह बातें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भगवान महावीर के 2544 निर्वाण दिवस पर उनकी निर्वाण स्थली पावापुरी में दो दिवसीय पावापुरी महोत्सव के उद्घाटन के दौरान कही।

इस मौके पर उन्होंने भगवान महावीर के संदेश और महात्मा गांधी के विचारों के बीच तुलना करते हुए कहा कि दोनों का मतलब एक ही है।

जो लोग इधर-उधर करके थोड़ा माल कमा लेते हैं बाद में ऐसे लोगों को बहुत कुछ झेलना पड़ता है। भगवान महावीर ने क्षणभंगुर सुख के लिए चित को चंचल नहीं करने का संदेश दिया था। वही बापू ने भी कहा है कि बिना कुछ किए माल कमाना पाप है। सेवा भाव रखने वाले ही जनता के दिलों पर राज करेंगे। हम करने में यकीन रखते हैं प्रचार में नहीं लेकिन कुछ लोग बिहार के बाहर दुष्प्रचार करने में लगे हैं। बाहर के लोग यहां आते हैं तो यहां का माहौल देखकर आनंदित होते हैं।

शाम की सांस्कृतिक संध्या को बाहर से आए कलाकारों ने यादगार बनाया। शुरुआत भगवान महावीर के मंगल गान से हुई।

सारेगामापा फेम आलोक चौबे ने एक बिहारी सब पर भारी गाकर लोगों को झुमा दिया। देवा श्री गणेशा, तेरे नाम से जी लूं से उन्होंने शुरुआत की और एक से बढ़कर एक गाने सुनाएं ।

इंडियन आइडियल फेम अनन्या मिश्रा जैसे ही मंच पर आई लोगो ने तालियों की गड़गड़ाहट से उनका स्वागत किया। दमा दम मस्त कलंदर,तेरे मस्त मस्त दो नैन गाकर भी उन्होंने लोगो को झूमा दिया।

शेयर कर और लोगों तक पहुंचाए

About author

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *