Input your search keywords and press Enter.

डीबीएन पर चली न्यूज का हुआ असर, शेखपुरा के पानापुर के छात्रों को अब नदी तैर कर नही जाना पड़ेगा स्कूल, मिली स्कूल जाने को तीन नाव

डीबीएन न्यूज़/शेखपुरा(नीतीश कुमार)–शेखपुरा जिला के हरुहर नदी में गंगा का जलस्तर बढ़ने के कारण लगभग 20 फीट पानी ऊपर आ जाने से घाटकुसुम्भा प्रखंड के पानापुर पंचायत का आवागमन पूर्णता बाधित हो गया था. साथ ही नदी के पानी मे तैर कर स्कूल जाने में सबसे ज्यादा परेशानी स्कूली बच्चों को उठाने की खबर डीबीएन न्यूज़ ने दिखाई थी इसका असर तुरन्त ही दिखने लगा है.


Widget not in any sidebars

शेखपुरा जिला प्रशासन ने डीबीएन पर चली न्यूज पर संज्ञान लेते हुए घाटकुसुम्भा प्रखंड के पानापुर में स्कूली बच्चों को स्कूल तक पहुंचाने के लिए प्रसासन ने आनन -फानन में तीन नाव उपलब्ध करा दिया है.

Loading...

पानापुर पंचायत के पानापुर गांव के बच्चे हाई स्कूल में पढ़ने वाले अधिकांश बच्चे बाउघाट हाई स्कूल जबकि आलापुर गांव के लखीसराय के सदायबीघा व जितपारपुर प्राणपुर सहित अन्य गाँव के बच्चे रेपुरा के विद्यालय में पढ़ने जाते हैं. जिन्हें छाती भर या पैराव भर करीब 15 से 20 फिट से भी ऊपर हरुहर नदी में पानी में तैरकर नदी पार कर विद्यालय जाना पड़ रहा है. इन बच्चों को अक्सर नदी पार करने में डूबने का खतरा बना रहता है. जिसकी खबर डीबीएन न्यूज पर चलाये जाने के बाद तुरन्त ही कार्रवाई करते हुए बच्चों के लिए स्कूल जाने को तीन नाव उपलव्ध करा दिया गया है.

इसकी जानकारी देते हुए घाटकुसुम्भा के सीओ रमेश प्रसाद सिंह ने बताया कि स्कूली बच्चों को पढ़ाई बाधित न हो इसको ख्याल में रखते हुए पानापुर पंचायत में तीन नाव उपलब्ध करा दिए गए हैं. जिसमे एक सरकारी नाव आलापुर में उपलव्ध कराया गया जो कि स्कूली बच्चों को आलापुर से हरुहर नदी पार कर लखीसराय जिला के सदायबीघा गाँव स्थित विद्यालय पढ़ने जाने में मदद करेगी.

दूसरा नाव प्राइवेट नाव है जो बाउघाट पानापुर के बीच हादा नदी को हरुहर में गिरने के स्थान पर लगाया गया है जो कि पानापुर के बच्चों को बाउघाट विद्यालय जाने के साथ -साथ जिला व प्रखंड मुख्यालय जाने वाले को भी पार करेगा.

जबकि तीसरा नाव प्राणपुर -पानापुर के बीच सोमे नदी पर लगाया गया है जो कि प्राणपुर, जितपारपुर, महमतपुर गाँव के स्कूली बच्चों व आम लोगों को सोमे नदी पार कराएगी.

वहीं नाव पर चढ़कर स्कूल जा रहे बच्चों ने कहा कि अब हमलोंगो को नाव मिल गया है.हम लोगों को खुशी है.अब स्कूल जाने में परेसानी नहीं होगी.बच्चों के चेहरे पर स्कूल जाने के लिए नाव पाने की खुशी साफ तौर पर दिख रही थी.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.