Input your search keywords and press Enter.

मिड डे मील को बंद करेगी नीतीश सरकार


पीएम की अध्यक्षता में होने वाली नीति आयोग की चौथी बैठक में आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री के समक्ष विशेष राज्य की मांग की. उन्होंने यह मांग आकड़ों का हवाला देते हुए रखा और कहा कि स्कूलों में मिड डे मील को बंद कर उसकी राशि संबंधित लाभार्थी के बैैंक खाते में सीधे स्थानांतरित होनी चाहिए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों पर दिए जाने वाले भोजन को लेकर भी डायरेक्ट बेनफिट ट्रांसफर मोड में लाभुक के खाते में पैसा स्थानांतरित किया जाए. कम से कम इस योजना का पायलट प्रोजेक्ट को आरंभ कर देना चाहिए. मुख्यमंत्री के बात को उपेंन्द्र कुशवाहा ने समर्थन किया और कहा कि यह सच्चाई हैं कि शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों में लगा दिया जाता हैं. वहीं राष्ट्रीय स्तर पर महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के संबंध में मुख्यमंत्री ने यह सुझाव दिया कि इस अवसर पर सामूहिक क्षमादान पर विचार किया जाना चाहिए और गांधी जी के जीवन प्रसंग एवं जीवन परिचय पर आधारित पुस्तकों को देश के सभी विद्यालयों में उपलब्ध कराया जाना चाहिए.

Loading...

इसके अलावे मुख्यमंत्री ने सुझाव के रूप में केंद्र को मानदेय का पुनरीक्षण भार वहन करने को कहा, कृषि रोड मैप की योजनाओं के क्रियान्वयन में मदद मांगी और बताया कि इसमें एक लाख, चौवन हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे. इन योजनाओं के लिए केंद्र सरकार समुचित वित्तीय सहयोग दे. वहीं राज्य फसल सहायता योजना का जिक्र करते हुए इसके लिए केंद्र सरकार से सहायता राशि में पचास प्रतिशत की भागीदारी पर विचार करने को कहा.


यह भी पढ़ें:
महज 3 फिट जमीन के खातिर कुदाल से काट बदमाशों ने किया वृद्ध को जख्मी

स्थानीय प्रशासन बेखबर, सप्ताह भर से सड़क पर पड़ा है सूखा पेड़, बड़ी दुर्घटना को दे रहा है आमंत्रण

गया गैंगरेप पर जदयू ने राजद पर बोला हमला तो दूसरी ओर राज्य महिला आयोग भी हुआ गंभीर

Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.