Input your search keywords and press Enter.

हादसों को खुला आमन्त्रण दे रहा ओवरलोडेड सवारी वाहन,परिवहन विभाग बेख़बर….

ओवरलोडेड सवारी वाहन फोटो

डीबीएन न्यूज/घाटकुसुम्भा/शेखपुरा/(नीतीश कुमार):- शेखपुरा जिले को गाँवों से जुड़ने वाली -घाटकुसुम्भा -शेखपुरा सड़क ,शेखपुरा- शाहपुर सड़क ,शेखपुरा सिरारी पथ ,या फिर शेखपुरा मेहुश या शेखपुरा अरियरी मुख्य सड़क मार्ग में सवारी वाहन के ओवरलोड चलने से नित्य दिन किसी न किसी अनहोनी घटनाओं को लेकर पैसेंजर में दहशत व्याप्त है.

बीते दिनों मोतिहारी की बस दुर्घटना ,या फिर जिले में अक्सर हो रही सड़क दुर्घटनाओं के बावजूद भी सवारी वाहन मालिक व चालक ओवरलोड वाहन चलाना बन्द नही कर रहे हैं. इन सड़को में चलने वाले पैसेंजर बताते है कि हम लोगों की मजबूरी है कि वाहन के ऊपर बैठ कर सफर करना होता है .जब तक कोई भी वाहन भेड़ बकरियों की तरह ऊपर नीचे पूरा पैसेंजर से भर नही लेता, तब तक चालक उस वाहन को खोलता ही नही है.इस सड़को पर चलने वाले अधिकांश सवारी वाहन ऐसे ही हैं. जिसके पास वाहन का इन्सुरेंस व जरूरी कागजात भी नही है फिर भी ये वाहन ओवरलोड लेकर चलने में बाज नही आ रहे है.

Loading...

Widget not in any sidebars

वही घाटकुसुम्भा प्रखंड के जदयू नेता मनोज राम बताते हैं कि इन सड़कों पर गश्ती के दौरान पुलिस अगर रोकती भी है तो सिर्फ दोपहिया वाहन को रोक कर जांच करती है.इसके अलावे सवारी वाहन या ओवरलोड मालवाहक वाहन किसी को देखना मुनासिब नही समझती है.

हालांकि घाटकुसुम्भा की बात करें तो वहां के अंचलाधिकारी कभी कभी रास्ते मे मिलने वाले ओवरलोड सवारी वाहनों को रुकवा कर चालक व पैसेंजर को इस तरह से नही चलने की नेक सलाह जरूर दे जाते है.पर आज तक इस नेक सलाह को भी चालक अनदेखी करते जा रहे हैं. इन सड़कों पर रोजाना सैकड़ो की संख्या में बड़हिया से टाल के रास्ते घाटकुसुम्भा पुरैना सड़क होकर मालवाहक वाहन गुजरती है और ओवरलोड सवारी वाहन भी चलते हैं पर अब तक इस सड़क पथ पर परिवहन विभाग कोई सूध तक लेना मुनासिब नही समझा है .

ओवरलोड वाहनों को रोक हुए अंचलाधिकारी रमेश कुमार ने बताया कि इन वाहनों को रोक कर चालक व पैसेंजर को नेक सलाह दे दिया करते हैं कि बाबू इस तरह मत चला करो क्योंकि कभी भी अनहोनी घटना घट सकती है .तब परेशानियां भी तुम्ही लोगों की बढ़ जाएगी.


Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.