Input your search keywords and press Enter.

तेजस्वी के निर्देश पर पूर्वे का हुआ अपमान : नीरज

niraj kumar

file pic

राजद प्रतिपक्ष के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से जनता दल युनाइटेड के प्रवक्ता और विधान पार्षद नीरज कुमार ने मंगलवार को राजद के असामाजिक लोगों के नाम को खुलासा करने की मांग किया है. जिसका जिक्र दो दिनों तक उनके भाई और पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव ने अपने बयान में किया. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि राजद ‘लंपटीकरण’ का जनक है. इस खुले पत्र में जदयू नेता ने आगे कहा है कि सजायाफ्ता पूर्व सांसद शहाबुद्दीन और दुष्कर्म के मामले में आरोपी विधायक राजवल्लभ यादव के बाद राजद में जितने भी असामाजिक लोग हैं.


Widget not in any sidebars

उनका नाम बताए और क्या वे अपने पार्टी से उन्हें बाहर का रास्ता दिखाएंगे. यही मांग आपके भाई तेजप्रताप का भी है. जनता इसके अलावे यह भी जानना चाहती है कि आप के भाई तेजप्रताप ने अपने बयान से इतनी जल्दी पलटी क्यों मारी? आपके भाई द्वारा राजद के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे की सार्वजनिक तौर पर अपमान करना राज्य की जनता को पसंद नहीं आया है. जनता भी जानती है कि राजनीति में किसी नेता या कार्यकर्ता को ही एमएलसी, एमएलए, सांसद बनाया जाता है, वह बाहर का व्यक्ति नहीं होता. राजद पर हमला बोलते हुए जदयू नेता नीरज ने लिखा है कि रामचंद्र पूर्वे आखिर अब और कितना अपमान सहेंगे? लगता है वे एमएलसी के एवज में अभी तक कोई जमीन या सम्पति राजद परिवार के नाम नहीं की है.

Loading...

यही वजह है कि आज एमएलसी बनने के बाद भी सार्वजनिक अपमान झेलना पड़ा. उन्होंने पत्र में लिखा है कि कबीर जी ने सच ही कहा है-“मन मैला तन उजला बगुला कपटी अंग, तासो तो कौवा भला तन मन एक ही रंग”. आगे लिखा है कि ‘ट्विटर बउआ तेजस्वी जी, वगैर आपके इशारे तेजप्रताप जी पूर्वे जी का अपमान नहीं किये होंगे. अपने पिता लालू प्रसाद की गैरमौजूदगी में आप ही पार्टी की पूरी कमान संभाल रहे हैं, ऐसे में पूर्वे जी का अपमान आपके निर्देश पर आपके भाई ने किया.

यह भी पढ़ें:
ये होगी 2020 में जदयू की चुनावी रणनीति

‘महागठबंधन में शामिल होंगे उपेंद्र कुशवाहा’

14 जून को रालोसपा द्वारा आयोजित विद्युत समस्याओं को लेकर प्रदर्शन पर राजद प्रवक्ता ने दिया करारा जबाब, कहा यह है एक छलावा

Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.