Input your search keywords and press Enter.

बिहार में पहली बार हुआ ‘ईस्ट इंडिया क्लाइमेट चेंज कॉन्क्लेव’ का आयोजन, सीएम ने रखी अपनी बात

cm-nitish-kumar

फाईल फोटो

बिहार में पहली बार दो दिवसीय ‘ईस्ट इंडिया क्लाइमेट चेंज कॉन्क्लेव-2018’ का आयोजन ज्ञान भवन में किया गया. जिसका उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया.वहीं विशिष्ट अतिथि बतौर केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ.हर्षवर्धन पहुंचे. कार्यक्रम की शुभारम्भ करते हुए सीएम ने कहा कि बिहार का किसी तरह से पर्यावरण के साथ छेड़छाड़ नहीं कर रहा है. बावजूद यहां के लोग भी इसकी सजा भुगत रहे हैं. साथ उन्होंने गंगा की अविरलता का भी जिक्र किया.


Widget not in any sidebars

कार्यक्रम में पहुंचे उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जानकारी देते हुए बताया कि जलवायु परिर्वतन का सबसे ज्यादा प्रभाव समाज के गरीब तबके पर पड़ रहा है. इस कॉन्क्लेव में विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों द्वारा जलवायु परिर्वतन से उत्पन्न चुनौतियों से निपटने की कार्य प्रणाली, बेहतर नीतियों व योजनाओं पर विचार किया जायेगा. उन्होंने कहा कि बिहार समेत पूर्वी भारत के अन्य राज्यों द्वारा ‘स्टेट एक्शन प्लान ऑन क्लाइमेट चेंज’ तैयार किया गया है.

Loading...

इसके अंतर्गत कृषि, वन, जल संसाधन, आपदा प्रबंधन, नगर विकास, नगर परिवहन, उद्योग, ऊर्जा और स्वास्थ्य आदि के लिए रणनीति बनाई गई है. उप मुख्यमंत्री ने कहा कि दुनिया के देशों को जलवायु परिर्वतन की चुनौतियों से मुकाबला के लिए ‘ग्रीन क्लाइमेट फंड’ बनाया गया है. बिहार ने भी 339.92 करोड़ का प्रस्ताव नाबार्ड के माध्यम से केंद्र सरकार को भेजा है. इस दो दिनों के आयोजन के अंत में सभी की सहमति से ‘पटना डिक्लेरेशन-2018’ की घोषणा किए जाने की संभावना है.

विदित हो कि ‘ईस्ट इंडिया क्लाइमेट चेंज कॉन्क्लेव-2018’ के इस आयोजन में छत्तीसगढ़ के मंत्री महेश गागरा के अलावा पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, झारखंड और असम के मंत्री, अधिकारी, अन्तरराष्ट्रीय स्तर के विशेषज्ञ और नीति निर्धारक भाग ले रहे हैं. बता दें कि इस आयोजन का उदेश्य कॉन्क्लेव में इस सदी की सबसे बड़ी चुनौती के रूप में उभर कर सामने आए जलवायु परिवर्तन के प्रभाव और उससे निपटने के उपायों पर विस्तार से विचार-विमर्श करना है.

यह भी पढ़ें:
उदय नारायण चौधरी के संविधान बचाओ रैली पर मांझी ने किया बड़ा हमला

‘BJP अब बिहार में भी छोड़ सकती है jdu का साथ

पार्टी के स्थापना दिवस पर बोले मांझी 2020 में सीएम होंगे तेजस्वी

Widget not in any sidebars

Leave a Reply

Your email address will not be published.