Input your search keywords and press Enter.

पटना: बख्तियारपुर का नाम बदलने की मांग को CM ने बताया फालतू, कहा- बिना मतलब की बात करते हैं लोग

बिहार की राजधानी पटना से सटे बख्तियारपुर का नाम बदलने की मांग उठ रही है. चूंकि, बख्तियारपुर सूबे के मुखिया नीतीश कुमार का जन्मस्थान है, ऐसे में बख्तियारपुर का नामकरण मुख्यमंत्री के नाम पर करने की मांग बीजेपी के नेता ने उठाई है.

हालांकि, सोमवार को जब नीतीश कुमार से इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ये सब मत बोलिए, ये फालतू बात है. लोग बिना मतलब की बात करते रहते हैं. जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम खत्म होने के बाद मीडिया से मुखतिब हुए नीतीश कुमार से बख्तियारपुर का नाम बदलने की मांग के संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ” अरे क्या फालतू बात है.

मेरा जन्मस्थान बख्तियारपुर है, उसका नाम कौन बदलेगा. क्या बात करते हैं. लोग बख्तियारपुर के बारे में फालतू में बात करते रहते हैं कि यहीं से हुआ इसी से नालंदा गया.” मुख्यमंत्री ने कहा, ” आपको मालूम होना चाहिए कि जब पार्लियामेंट में ऑल इंडिया कानून बन रहा था, तभी पार्लियामेंट की मेंबर ने क्या कहा था.

उन्होंने कहा था कि जिस नालंदा यूनिवर्सिटी (Nalanda University) को नष्ट कर दिया गया है, उसका उत्थान होना चाहिए. इस कार्य के लिए उस वक्त बख्तियारपुर में ही कैम्प रखा गया था. इस बार फिर उसी बख्तियारपुर में जन्मा इंसान है, जो नए सिरे से नालंदा यूनिवर्सिटी बनवा रहा है. तो नाम बदलने का सवाल ही नहीं उठता, ये सब फालतू चीज है.”

पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने ये भी बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर राज्य में मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव चलाया जाएगा. इस कार्य की तैयारी चल रही है. उन्होंने कहा कि हमने छह महीने में छह करोड़ डोज कोरोना टीका देने का टारगेट रखा है. हम लोग इस बाबत लगातार काम कर रहे हैं. कहा है तो उसे पूरा जरूर करेंगे. कोशिश है कि अधिक ही हो. लेकिन अभियान को छोड़ेंगे नहीं.