Input your search keywords and press Enter.

पटना हाईकोर्ट ने दिव्‍यांशु भारद्वाज के निर्वाचन पर दिया बड़ा फैसला

divyanshu bhardwaj

file photo

न्यूज़ डेस्क: पटना विश्‍वविद्यालय छात्रसंघ चुनाव मामले में आज पटना हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला दिया है. हाईकोर्ट ने नवनिर्वाचित अध्‍यक्ष दिव्‍यांशु भारद्वाज के निर्वाचन को वैध ठहराया है. जस्टिस चक्रधारी शरण ने दिव्‍यांशु की याचिका पर सुनावाई करते हुए इसके अलावे उसके स्‍नातकोत्‍तर में नामांकन को भी वैध ठहराया है.

गौरतलब है कि पटना यूनिवर्सिटी में सालों बाद हुए चुनाव में एबीवीपी से टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय चुनाव में उतरे दिव्यांशु ने जाप के गौतम आनंद को हरा कर पियू छात्र संघ अध्यक्ष चुने गये थे लेकिन रिजल्ट के बाद जाप के गौतम आनंद ने दिव्यांशु के उम्मीदवारी पर ही सवाल उठाया था. वहीं एबीवीपी की टिकट से उपाध्यक्ष चुनी गई योशिता पटवर्धन के उम्मीदवारी पर भी आईसा-एआईएसएफ ने सवाल उठाया था.

Loading...

मामले की गंभीरता को देखते हुई इसकी जांच कराई गई. जाँच के बाद अध्यक्ष और उपाध्यक्ष दोनों का निर्वाचन रद्द कर दिया गया. टीम ने दिव्‍यांशु की नामांकन को अवैध बताते हुए उसका निर्वाचन रद कर दिया था. दिव्यांशु का कहना है कि जांच कमेटी ने बगैर उसका पक्ष सुने निर्वाचन को रद्द कर दिया था. जिस पत्र के आधार पर पीजी में नामांकन रद किया गया है. वह 2016 में यूजीसी ने जारी किया है. जबकि बीएन कॉलेज और हिमालयन यूनिवर्सिटी में नामांकन 2014 में लिया था. चुनाव में छात्र जाप के गौतम कुमार को निर्दलीय दिव्यांशु भारद्वाज ने 112 वोटों से हराया था. दिव्याशु को 1862 वहीं गौतम को 1750 वोट प्राप्त हुआ तीसरा स्थान आईसा-एआईएसएफ की मीतू कुमारी को मिला जिन्होंने 1168 वोट प्राप्त हुआ था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.